मोबाइल के लिए नौकर ने किया इतना बड़ा कांड कि पुलिस भी हो गई हैरान

मोबाइल के लिए नौकर ने किया इतना बड़ा कांड कि पुलिस भी हो गई हैरान
मोबाइल के लिए नौकर ने किया इतना बड़ा कांड कि पुलिस भी हो गई हैरान

Amit Sharma | Updated: 13 Sep 2019, 12:54:54 PM (IST) Agra, Agra, Uttar Pradesh, India

-अपहरण के 13 दिन बाद बरामद हुआ बच्चे का कंकाल
-डीएम के हस्तक्षेप से सक्रिय हुई पुलिस, आरोपी गिरफ्तार
-एक सितम्बर से गायब था, नौकर अनिल ने मोबाइल के लिए की नृशंस हत्या

आगरा। आगरा के थाना सैंया के गांव राजपुरा से अपहृत (Kidnapped) मासूम का कंकाल (Skeleton) गांव के पास खेत में पड़ा मिला। मासूम धनराज एक सितम्बर, 2019 से लापता था। थाना सैंया में परिजनों की तहरीर पर अपहरण का मुकदमा दर्ज हुआ था, लेकिन इस मामले में पुलिस उदासीन बनी रही। परिजनों ने जब आगरा जिलाधिकारी से पुलिस की शिकायत (Complaint) की तो हरकत में आई पुलिस ने महज 24 घण्टे में ही मासूम बच्चे का कंकाल आरोपी की निशान देही पर गांव के पास खेत से बरामद किया है। इस मामले में आगरा पुलिस की लापरवाही उजागर हुई है। अपहरण के मुकदमे का आरोपी अनिल थाना इरादतनगर के बर्थला का रहने वाला है, जो मृतक धनराज के घर पशुओं की देखभाल के लिए रखा गया था। पुलिस पूछताछ में गिरफ्त में आये आरोपी ने बताया कि धनराज ने उसका मोबाइल तोड़ दिया था इसी का बदला लेने के लिए उसने घटना को अंजाम दिया।

कहां से हुआ था गायब
अपहरण के बाद हत्या का शिकार हुआ धनन्जय घर से ही अचानक लापता हो गया था। परिजन उसकी तलाश में दर-दर भटकते रहे लेकिन उसका कोई सुराग नहीं लगा। थाना सैंया में परिजनों ने तहरीर देकर गुमशुदगी दर्ज कराई। बाद में परिजनों को अपने नौकर अनिल पर अपहरण कराने का शक हुआ। परिजनों की आशंका पर थाना सैंया पुलिस ने गुमशुदगी को अपहरण में तरमीम कर लिया, लेकिन ठोस कदम न उठाने के चलते शातिर ने अपने मंसूबों को अंजाम दे दिया।

कंकाल मिलने से फैली सनसनी
थाना सैंया के राजपुरा से अपहृत बालक की नृशंस हत्या कर दी गई। उसका कंकाल पुलिस ने नृशंस हत्या के आरोपी अनिल की निशान देही पर 13 दिन बाद गांव के पास खेत से बरामद किया है। खेत में बच्चे का कंकाल मिलने की सूचना आस-पास के इलाके में जंगल में आग की तरह फैल गई। इस सनसनी खेज वारदात से लोग दहशत में है।

पीएम के लिए भेजा कंकाल
थाना सैंया पुलिस ने खेत में पड़े मिले मासूम बच्चे के कंकाल को तत्काल कब्जे में ले पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस को आशंका थी कि हत्या के बाद से गुस्साये परिजन हंगामा कर सकते हैं।थाना सैंया पुलिस ने दिल दहला देने वाली हृदय विदारक घटना के आरोपी अनिल को थाना शमसाबाद क्षेत्र से गिरफ्तार किया था। हत्या की वजह बताते हुए आरोपी ने पुलिस को बताया कि वह 25 अगस्त को धनराज के घर पशु संभालने की नौकरी करने आया था। करीब आठ साल का तीसरी कक्षा में पढने वाला धनराज उससे जल्दी ही घुल मिल गया। धनराज से खेल खेल में अनिल का मोबाइल टूट गया। अनिल पशु भगाने के बहाने मासूम को अपने साथ खेत पर ले गया जहां उसने गला दबाकर धनराज की हत्या कर दी ।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned