सुबह से लापता तोगडिय़ा रात को मिले

अद्र्धबेहोशी की हालत में मिले, अस्पताल में दाखिल

By: Nagendra rathor

Updated: 15 Jan 2018, 11:11 PM IST

अहमदाबाद. विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष प्रवीण तोगडिय़ा के सोमवार सुबह से ही अचानक लापता हो जाने के बाद उनके देर रात एयरपोर्ट के समीप कोतरपुर एप्रोच के पास से अद्र्धबेहोशी की हालत में मिलने की खबर है। उन्हें शाहीबाग स्थित चंद्रमणी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। शुगर डाउन होने से तबियत बिगडऩे की बात सामने आ रही है। इस बीच दोपहर से रात तक अहमदाबाद, सूरत, राजकोट सहित राज्यभर में विहिप-बजरंगदल के कार्यकर्ताओं का उनकी तलाश की मांग को लेकर प्रदर्शन किया और कई तरह की आशंकाएं व्यक्त की। तोगडिय़ा को अहमदाबाद के सोला थाने की पुलिस की मदद से राजस्थान पुलिस की ओर से गिरफ्तार किए जाने का मैसेज वायरल होने के बाद कार्यकर्ताओं ने सोला थाने का घेराव किया था।
विहिप के महामंत्री रणछोड़ भरवाड़ ने मीडिया को बताया कि राजस्थान के गंगापुर थाने में दर्ज दस साल पुराने मामले में तोगडिय़ा को राजस्थान पुलिस की ओर से गिरफ्तार किए जाने की आशंका थी। लेकिन राहत की बात यह है कि वे मिल गए हैं, लेकिन बेहोशी की हालत में मिले हैं। उन्हें उपचार के लिए शाहीबाग के चद्रमणी अस्पताल में भर्ती कराया है। वे कोतरपुर एप्रोच के पास कैसे पहुंचे और क्या हुआ, यह उनके पूर्ण चेतन अवस्था में आने के बाद पता लगेगा।

१०८ की टीम लेकर पहुंची थी,शुगर हो गया था कम
हॉस्पिटल के संचालक चिकित्सक डॉ.रूप कुमार अग्रवाल ने मीडिया को बताया कि रात करीब सवा नौ बजे १०८ की टीम तोगडिय़ो को लेकर हॉस्पिटल पहुंची थी। जब वह आए थे तब बेहोशी की अवस्था में थे। उनका शुगर काफी कम हो गया था। उनका उपचार शुरू किया गया। स्वास्थ्य में अब सुधार हो रहा है। वे खतरे से बाहर हैं। हालांकि स्वास्थ्य से जुड़े अन्य जांच करने की जा रही हैं।
तोगडिय़ा को जेड प्लस सुरक्षा मिली होने के बावजूद वे लापता हो गए थे। सोला पुलिस भी गिरफ्तारी से इनकार कर रही थी और राजस्थान पुलिस ने भी उनकी गिरफ्तार से इनकार किया था। फिर वे कहां गए इसका जवाब पुलिस के पास भी नहीं होने के चलते विहिप के मीडिया इंचार्ज हेमेन्द्र त्रिवेदी की ओर से वॉट्सएप पर वायरल किए गए सदेश में उनके एन्काउंटर की भी आशंका जताई गई थी। जिससे नाराज कार्यकर्ताओं ने उन्हें जल्द खोजने की मांग को लेकर अहमदाबाद सहित राज्यभर में प्रदर्शन किया था।

गिरफ्तारी वारंट लेकर आई थी राजस्थान पुलिस, बैरंग लौटी
अहमदाबाद क्राइम ब्रांच के जेसीपी जे.के.भट्ट ने बताया कि तोगडिय़ा खुद ही विहिप कार्यालय से सुबह करीब पौने 11 बजे ऑटो रिक्शा में बैठकर एक दाढ़ी वाले व्यक्ति के साथ रवाना हुए थे। वहां पर तैनात एसआरपी जवान विक्रम सिंह की पूछताछ में यह सामने आया। उन्होंने सुरक्षाकर्मी को साथ आने को मना किया और आधा घंटे में वापस आने की बात कही थी। इस बीच सामने आया कि वह रात को जब यहां आकर रुके थे तब उनकी सुरक्षा में तैनात जवानों से कहा कि वह दोपहर दो बजे आ जाएं। जब सुरक्षाकर्मी पहुंचे तो तोगडिय़ा कार्यालय पर नहीं थे।

क्राइम ब्रांच ने चार टीमें गठित की थीं
भट्ट ने बताया कि राजस्थान के गंगापुर थाने के एएसआई की टीम कोर्ट की ओर से सरकारी अधिकारी के आदेश की अवज्ञा से जुड़़े (आईपीसी की धारा १८८ के) उल्लंघन के एक मामले में गिरफ्तारी वारंट लेकर पहुंची थी। सोला पुलिस ने इस टीम के साथ तीन पुलिसकर्मी को तोगडिय़ा के घर भेजा जहां वे नहीं मिले। उनके नहीं मिलने पर टीम ने सोला थाने में आकर तोगडिय़ा के नहीं मिलने की एंट्री की और राजस्थान चली गई। तोगडिय़ा का पता लगाने के लिए क्राइम ब्रांच ने चार टीमें गठित की थीं।

Nagendra rathor Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned