नए पुल के नामकरण को लेकर आंदोलन की चेतावनी

नए पुल के नामकरण को लेकर आंदोलन की चेतावनी

Mukesh Kumar Sharma | Publish: Mar, 03 2017 10:35:00 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

जाडेश्वर के पास नर्मदा नदी पर नए बने देश के सबसे लंबे केबल स्ट्रेइड ब्रिज का उद्घाटन 7 मार्च को

भरुच।जाडेश्वर के पास नर्मदा नदी पर नए बने देश के सबसे लंबे केबल स्ट्रेइड ब्रिज का उद्घाटन 7 मार्च को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करेंगे। वहीं पुल के नामकरण को लेकर राजनीति गर्मा गई है। पुल का नाम बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर करने की मांग कर भीलीस्तान टाइगर सेना की ओर से लंबे समय से आंदोलन किया जा रहा है। इस मामले को लेकर बीटीएस ने आंदोलन करने तथा आत्मदाह की धमकी दी।

केबल स्ट्रेइड ब्रिज के नाम को लेकर विवाद तेजी से बढ़ रहा है। डॉ. बी.आर. अंबेडकर केबल ब्रिज समिति की ओर से ब्रिज का नाम बाबा साहेब अंबेडकर रखने की मांग की जा रही है। वही कई संगठनों ने नए पुल का नाम नर्मदा सेतु व भृगु ऋषि पुल रखने की मांग कर रही है। इस मामले को लेकर अलग-अलग संगठनों ने कलक्टर को ज्ञापन भी सौंपा। उधर, जाडेश्वर गांव के पाटीदार समाज ने पुल का नाम सरदार पटेल के नाम पर रखने की मांग की है। नामकरण के विवाद में अब भीलीस्तान टाईगर सेना भी मैदान में उतर गई है।

नर्मदा सेतु हो सकता है केबल ब्रिज का नाम

देश के सबसे लंबे केबल स्ट्रेइड ब्रिज के नाम को लेकर अभी अटकल बाजी जारी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 7 मार्च को पुल का कोई नाम दिए जाने की संभावना व्यक्त की जा रही है। नए ब्रिज का नाम लगभग नर्मदा सेतु तय कर दिए जाने का समाचार विश्वस्त सूत्रों से मिला है।
खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned