scriptAyodhya Ram Mandir : Saffron colour flags hoisted from house | Ayodhya Ram Mandir : चहुंओर केसरिया रंग, घर-घर लहराए पताका-ध्वज | Patrika News

Ayodhya Ram Mandir : चहुंओर केसरिया रंग, घर-घर लहराए पताका-ध्वज

locationअजमेरPublished: Jan 22, 2024 04:52:21 pm

Submitted by:

raktim tiwari

वैदिक मंत्रोच्चार से पूजन-आरती की गई। नसीराबाद रोड सात पीपली बालाजी मंदिर, रामगंज हनुमानजी का मंदिर सहित प्रमुख मंदिरों में विशेष सजावट की गई।

Saffron colour flags hoisted from house
Saffron colour flags hoisted from house
श्रीरामलला के प्राण-प्रतिष्ठा समारोह में समूचे शहर पर केसरिया रंग चढ़ा। लाखों केसरिया पताकाएं-ध्वज घरों-मंदिरों, गली-मोहल्लों व मुख्य मार्गों पर लगाई गई। प्राण-प्रतिष्ठा के दौरान करीब 10 लाख दीपक जलाए गए।

शहर के प्रमुख रघुनाथ मंदिर घसेटी, सीताराम मंदिर, बजरंगगढ़ मंदिर, बजरंगगढ़, घाटीवाले बालाजी मंदिर, मेहंदीपुर बालाजी मंदिर कोटड़ा में धार्मिक आयोजन हुए। वैदिक मंत्रोच्चार से पूजन-आरती की गई। नसीराबाद रोड सात पीपली बालाजी मंदिर, रामगंज हनुमानजी का मंदिर सहित प्रमुख मंदिरों में विशेष सजावट की गई।
अखाड़े संग निकाली 1100 महिलाओं ने शोभायात्रा
सुभाष नगर के वार्ड 32 33 व 34 के सभी 15 मंदिर समितियों के तत्वावधान में राम विशाल शोभा यात्रा निकली गई। महिला मंडलों की 1100 महिलाओं ने कलश यात्रा निकाली। अखाड़ों के युवाओं ने तलवार बाजी और करतब दिखाए।
शोभा यात्रा का जगह-जगह स्वागत किया गया।रथ में बैठे राम सीता लक्ष्मण व हनुमान की बुजुर्ग कार सेवक दिनेश शर्मा, महेश चंद, विजय सिंह गुर्जर ने आरती उतारी। सरदार वीर सिंह, अशोक सोनी, उम्मेद सिंह, भगवान दास, अमरचंद, सत्यनारायण सहित क्षेत्र वासियों ने पुष्प वर्षा की। संयोजक तरुण वर्मा ने बताया कि कुश, कनिष्क, हर्ष, हार्दिक, कुशल, कुलदीप, निर्मल टांक, कमल सोगरा, प्रकाश नायक ने सहयोग दिया। मधु भारद्वाज, गीता देवी, प्रीति वर्मा, रीना माहेश्वरी, मंजू शर्मा, प्रियंका, धीरज गुर्जर, महेंद्र राव, दुर्गा प्रसाद शर्मा मौजूद रहे।
अविनाश के नाम पर स्कूल का नामकरण

अयोध्या में बलिदान हुए अविनाश माहेश्वरी के नाम पर एक स्कूल का नामकरण भी तत्कालीन समय किया गया। विद्या भारती की ओर से संचालित भगवानगंज स्थित आदर्श विद्या निकेतन का नाम अविनाश माहेश्वरी आदर्श विद्या निकेतन के नाम से किया गया है। यहां हर साल 6 दिसम्बर को नियमित सुंदरकांड पाठ का आयोजन किया जा रहा है।
फैक्ट फाइल

519 मंदिर में सजावट

5 लाख भगवा पताकाएं

10 लाख मिट्टी के दीपक

500 से अधिक मंदिरों में पौषबड़ा एवं प्रसादी

500 एलईडी से प्राण-प्रतिष्ठा समारोह का सीधा प्रसारण
250 से अधिक संगठन व संस्थाओं का योगदान

1 हजार जगह हनुमान चालीसा- सुंदरकांड पाठ

500 जगह रंगोली-पुष्पों से सजावट

400 से अधिक मंदिरों में जलाभिषेक

ट्रेंडिंग वीडियो