Corona Effect: 30 मई तक अवकाश, नहीं कराएं जाए इस साल छात्रसंघ चुनाव


राज्य सरकार द्वारा उच्च स्तरीय गठित कमेटी सौंपेगी रिपोर्ट।

By: raktim tiwari

Updated: 10 Apr 2020, 09:00 AM IST

अजमेर.

कोरोना वायरस संक्रमण और लॉक डाउन को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा गठित उच्च स्तरीय कमेटी रिपोर्ट तैयार करने में जुट गई है। कमेटी ने 30 मई तक सभी विश्वविद्यालयों-कॉलेज में शैक्षिक अवकाश, इस साल छात्रसंघ चुनाव नहीं कराने और विद्यार्थियों को स्नातक द्वितीय-तृतीय वर्ष और स्नातकोत्तर पूर्वाद्ध स्तर पर प्रोविजनल प्रवेश देने की सिफारिश की है। कमेटी उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी को रिपेार्ट सौंपेगी।

Read More: Corona effect: राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षाओं में देरी गड़बड़ाएगा सत्र

सरकार ने जयनारायण व्यास यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. पी. सी. त्रिवेदी, राजस्थान यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. आर. के. कोठारी, उच्च शिक्षा विभाग के संयुक्त सचिव, डॉ. मोहम्मद नईम, कॉलेज शिक्षा आयुक्त प्रदीप बोरड़ और अन्य की कमेटी बनाई है। कमेटी को विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं, परिणाम, अगले सत्र की प्रवेश प्रक्रिया और अन्य पर चर्चा कर रिपोर्ट सौंपनी है।

यह तैयार किया है ड्राफ्ट
-30 मई तक सभी विश्वविद्यालयों में ग्रीष्मकालीन अवकाश
-स्नातक द्वितीय और तृतीय वर्ष तक के विद्यार्थियों को अगली कक्षाओं में प्रोविजनल प्रवेश
-एम.कॉम और एम.कॉम प्रीवियस के विद्यार्थियों को फाइनल में प्रोविजनल प्रवेश
-पढ़ाई और परीक्षाओं में विलंब के चलते नहीं कराएं जाएं सत्र 2020-21 में छात्रसंघ चुनाव
-नॉन कॉलेजिएट (प्राइवेट) विद्यार्थियों की परीक्षाएं कराई जाएं अगस्त-सितंबर तक
-सभी विश्वविद्यालय तृतीय वर्ष और स्नातकोत्तर फाइनल ईयर के परिणाम जून तक करे जारी
-जुलाई में सत्र की शुरुआत के साथ सिर्फ पढ़ाई हो

Read More: Corona change: लॉकडाउन ने बदला विद्यार्थियों का रूटीन, पढ़ें ये खबर

सिर्फ कराएं बारहवीं गणित का पेपर
उच्च स्तरीय कमेटी ने शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा को भी सिफारिश भेजी है। इसमें कहा गया है कि राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की परीक्षाओं में बारहवीं गणित का पेपर बचा है। नीट, जेईई मेन, जेईई एडवांस और अन्य परीक्षाओं को देखते हुए सिर्फ गणित का पेपर कराया जाए। ताकि विद्यार्थियों को इंजीनियरिंग, मेडिकल संस्थानों की परीक्षा और प्रवेश में दिक्कतें नहीं हों।


कमेटी ड्राफ्ट तैयार कर रही है। हमने 30 मई तक शैक्षिक अवकाश और मौजूदा कॉलेज-यूनिवर्सिटी में पढऩे वाले विद्यार्थियों को अगले सत्र में प्रोविजनल प्रवेश देने पर विचार किया है। रिपोर्ट जल्द सरकार को सौंपी जाएगी।
प्रो. पी. सी. त्रिवेदी, कुलपति जयनारायण व्यास यूनिवर्सिटी जोधपुर

raktim tiwari Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned