मरम्मत के बाद गैस शवदाहगृह फिर हुआ चालू

होने लगा कोरोना मृतकों का अंतिम संस्कार
ठेकेदार फर्म पर 46 हजार का जुर्माना

By: bhupendra singh

Published: 07 Aug 2020, 08:56 PM IST

अजमेर.ऋषिघाटी स्थित श्मशान में स्थापित गैस शवदाहगृह Gas crematorium शुक्रवार को चालू हो गया। अब इसके जरिए कोरोना मृतकों का अंतिम संस्कार किया जा रहा है। गैस शवदाहगृह में तकनीकी खराबी आने के कारणचार दिन से यह काम नहीं कर रहा था। इसके चलते कोराना मृतकों का अंतिम संस्कार लकडिय़ों के जरिए किया जा रहा था। अजमेर विकास प्राधिकरण ने गैस शव दाहगृह का निर्माण करने वाली गुजरात की कम्पनी के ठेकेदार को अहमदाबाद से बुलवाया तथा खराबी दूर करवाई।

अमरीका से मंगवाए सेंसर

गैस शवदाहगृह में लगे चार सेंसर खराब हो गए थे। ये सेंसर अमरीका से मंगवाए गए इस कारण गैस शव दाहगृह को पुन: संचालित करने में देरी हुई। वहीं इस मामले में प्राधिकरण ने ठेकेदार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है तथा 46 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है।
अब तक51 मृतकों का अंतिम संस्कार

अजमेर विकास प्राधिकरण ने वर्ष 2018 में 95 लाख रुपए खर्च कर गैस शव दाहगृह का निर्माण करवाया था। इसके जरिए अब तक 51 मृतकों का अंतिम संस्कार किया जा चुका है। इनमें 35 कोरोना पॉजिटिव तथा 16 अन्य है।
टेकओवर नहीं कर रहा नगर निगम

अजमेर विकास प्राधिकरण ने नगर निगम की एनओसी के बार गैस शवदाह गृह का निर्माण ऋषिघाटी श्मशासन में किया था। वर्ष 2018 में निर्माण के बाद से ही प्राधिकरण गैस शवदाह गृह को नगर निगम को सौंपने के लिए कई बार पत्र लिख चुका है नगर निगम इसे टेकओवर नहीं कर अपनी जिम्मेदारी से भाग रहा है। प्राधिकरण ने पुन: नगर निगम आयुक्त को गैस शव दाहगृह टेकओवर करने के लिए पत्र लिखा है।

read more:महावीर सर्किल से नौसरघाटी तक बढ़ेगी सडक़ की चौड़ाई

bhupendra singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned