चोरी की बिजली से रोशन थे होटल-ढाबे-पैट्रोल पम्प

डिस्कॉम की जांच में खुलासा,9.15 करोड़ जुर्माना
976 इंजीनियरों ने 7929 जगहों पर मारे छापे

4043 जगह पकड़ी विद्युत चोरियां
477 जगह विद्युत दुरुपयोग

By: bhupendra singh

Updated: 20 Jul 2020, 08:22 PM IST

अजमेर.अजमेर विद्युत वितरण निगम ajmer discom द्वारा बिजली चोरों के खिलाफ जारी अभियान में बड़ा खुलासा हुआ है। डिस्कॉम के अधीन 11 जिलों में कई होटल, ढाबे, रेस्टोरेंट, पैट्रोल पम्प Hotel-dhaba-petrol pump ,चिलिंग स्टेशन और मोबाइल टावर चोरी की बिजली electricity से चलाए जा रहे थे। निगम ने इनके खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की है। निगम के 976 इंजीनियरों ने 11 जिलों में 7929 परिसरों की जांच की। जिसमें 4043 जगह विद्युत चोरियां पकडी गई। निगम ने बिजली चोरों पर 9.15 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया है। डिस्कॉम ने 477 जगह विद्युत के गलत इस्तेमाल के मामलें दर्ज करते हुए 1.13 करोड़ रुपए का जुर्माना लगाया। प्रबन्ध निदेशक भाटी ने बताया कि निगम की ओएंडएम व विजिलेंस शाखा के अलावा मीटर एंड प्रोटेक्शन शाखा, स्टोर शाखा व प्रोजेक्ट शाखा के अभियंताओं को भी सतर्कता जांच के निर्देश दिए गए हैं। निगम को लगातार सूचना मिल रही थी कि विभिन्न जिलों में होटल, ढाबों,रेस्टोरेंट, चिलिंग प्लांट, मोबाइल टॉवर, कोल्ड स्टोरेज और पैट्रोल पम्प की बिजली चोरी हो रही है। निगम ने योजना बना कर इन पर छापा मारा तो बड़ी संख्या में बिजली चोरी सामने आई। अजमेर डिस्कॉम ने इस बार 4043 जगह बिजली चोरी पकड़ी है।

कहां कितने मामले

नागौर जिले के अभियंताओं ने सर्वाधिक 479 विद्युत चोरी के मामले पकड़े जिन पर 98.51 लाख रूपए जुर्माना लगाया। अजमेर शहर वृत में 124,अजमेर जिलावृत में 89,भीलवाड़ा में 281,चित्तौडग़ढ़ में 339, सीकर में 321,उदयपुर में 337,राजसमंद में 83, बांसवाड़ा में 148, डुंगरपुर में 116, प्रतापगढ़ में 99 मामले व झुंझनु में 379 मामलें विद्युत चोरी पकड़े गए। एमएंडपी विंग ने 319, प्रोजेक्ट विंग ने 84,स्टोर विंग ने 43 व विजिलेंस विंग ने 325 विद्युत चोरियां पकडी।

49 दिन में 54 करोड़ का जुर्माना

निगम ने इस वित्तीय वर्ष में अब तक सात सप्ताह में 58 हजार 945 जगहों पर छापे मारे। इनमें 28 हजार 934 जगहों पर चोरी सामने आई। निगम ने इन चोरों पर अब तक 5४ करोड़ जुर्माना लगाया है। प्रबन्ध निदेशक वी.एस.भाटी ने बताया कि आने वाले समय में इस अभियान को और अधिक गति दी जाएगी, जिससे विद्युत छीजत में कमी लाई जा सके।

read more:चीफ इंजीनियर ने बिना स्वीकृति सीवरेज ठेकेदार को दे दी मोहलत

bhupendra singh Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned