scriptAllahabad High Court: Big Shivling found in Gyanvapi | इलाहाबाद हाईकोर्ट: ज्ञानवापी में मिला बड़ा शिवलिंग, कोर्ट के आदेश पर स्थान सरंक्षित, 20 को होगी अगली सुनवाई | Patrika News

इलाहाबाद हाईकोर्ट: ज्ञानवापी में मिला बड़ा शिवलिंग, कोर्ट के आदेश पर स्थान सरंक्षित, 20 को होगी अगली सुनवाई

कोर्ट को यह जानकारी दी गई कि न्यायिक मजिस्ट्रेट के आदेश पर हो रहे सर्वे में एक बड़ा शिवलिंग मिला है। इसके अलावा भी कई ऐसे चीजे मिली हैं। इस मामले में न्यायिक मजिस्ट्रेट के आदेश पर उस आदेश को सुरक्षित कर दिया गया है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मामले की सुनवाई को आगे बढ़ाते हुए 20 मई को तिथि निर्धारित की है।

इलाहाबाद

Published: May 16, 2022 06:04:58 pm

प्रयागराज: इलाहाबाद हाईकोर्ट में 2 बजे से ज्ञानवापी मस्जिद विवाद से जुड़े मामले की सुनवाई जारी रही। कोर्ट को यह जानकारी दी गई कि न्यायिक मजिस्ट्रेट के आदेश पर हो रहे सर्वे में एक बड़ा शिवलिंग मिला है। इसके अलावा भी कई ऐसे चीजे मिली हैं। इस मामले में न्यायिक मजिस्ट्रेट के आदेश पर उस आदेश को सुरक्षित कर दिया गया है। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मामले की सुनवाई को आगे बढ़ाते हुए 20 मई को तिथि निर्धारित की है।
इलाहाबाद हाईकोर्ट: ज्ञानवापी में मिला बड़ा शिवलिंग, कोर्ट के आदेश पर स्थान सरंक्षित, 20 को होगी अगली सुनवाई
इलाहाबाद हाईकोर्ट: ज्ञानवापी में मिला बड़ा शिवलिंग, कोर्ट के आदेश पर स्थान सरंक्षित, 20 को होगी अगली सुनवाई
वहीं दूसरी तरफ इलाहाबाद हाईकोर्ट में वाराणसी में काशी विश्वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद विवाद से जुड़ी याचिकाओं पर सुनवाई शुरू हो गई है। यह सुनवाई जस्टिस पांड्या की सिंगल बेंच मामले की सुनवाई कर रही है। प्रमुख रूप से वाराणसी जिला अदालत में 1991 में दाखिल वाद की पोषणीयता पर सुनवाई हो सकती है।
यह भी पढ़ें

श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर व ज्ञानवापी मस्जिद विवाद: इलाहाबाद हाईकोर्ट में आज 2 बजे से सुनवाई शुरू

वाराणसी में एक तरफ ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वेक्षण चल रहा है तो दूसरी तरफ मुस्लिम पक्षकार ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर तथा ज्ञानवापी मस्जिद की जमीन के विवाद को लेकर मस्जिद कमेटी और सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की याचिका पर हाई कोर्ट में आज सुनवाई होगी। इस याचिका में वाराणसी के जिला न्यायालय के एएसआई सर्वेक्षण आदेश को चुनौती दी गई है।
मामले में मुस्लिम पक्ष का कहना है कि 1991 के सेंट्रल रिलिजियस वरशिप एक्ट के तहत अयोध्या को छोड़कर किसी अन्य धार्मिक स्थल को लेकर वाद दाखिल नहीं किया जा सकता है। इस एक्ट के तहत देश की आजादी के समय 15 अगस्त 1947 में धार्मिक स्थलों की जो स्थिति है वही स्थिति बरकरार रहेगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Domestic cylinder price: घरेलू गैस सिलेंडर महंगा, कमर्शियल सिलेंडर के दाम घटेMumbai News Live Updates: मुंबई में लगातार दूसरे दिन भी हो रही तेज बारिश, बांद्रा इलाके में भारी जलभरावराजस्थान के 7 जिलों में आज भारी बारिश का अलर्ट, मौसम विभाग सुझावखाद्य मंत्रालय की आज खाद्य तेल कंपनियों के साथ बैठक, और सस्‍ता होगा खाने का तेलUP Corona Update: एक हफ़्ते में 29 प्रतिशत घटे कोविड के मामले, पिछले 24 घंटों में सिर्फ इतने नए मरीजMp local body elecation: इंदौर में ईवीएम गड़बड़...कई वार्डो में मतदान पर असरमेरठ के अति सुरक्षित सैन्य इलाके में किशोरी का सिर कटा शव मिला, जांच में जुटी पुलिससबसे ज्यादा टैंकों वाला शहर बीकाणा, अपनी सैन्य ताकत और पाक को युद्ध हराने की दिलाते हैं याद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.