लोको पायलट्स को अब नहीं पटलनें होंगे किताबों के पन्ने ,एक क्लिक पर टैब में मिलेगी पूरी जानकारी

पहले चरण में तीन सौ पायलट को मिलेगा टैब

प्रयागराज | देश भर में करोड़ों यात्रियों को हर रोज भारतीय रेलवे में सुरक्षित सफर कराने वाले लोको पॉयलट भी अब आधुनिक तकनीक से लैस किये जा रहे हैं। नार्थ सेन्ट्रल रेलवे के इलाहाबाद मण्डल में लोको पॉयलट के कंधों से किताबों का बोझ हटाकर अब उन्हें टैब दिया जा रहा है। अब तक लोको पॉयलट को नियमों और कानूनों की जानकारी के लिए मोटी किताबें पढ़नी पड़ती थी। लेकिन टैब मिलने के बाद अब रेलवे के नियमों की सही और नवीन जानकारी लोको पॉयलट को एक क्लिक पर ही मिल सकेगी। इसके साथ ही नियमों में होने वाले बदलाव भी समय समय पर अपग्रेड होते रहेंगे।

नार्थ सेन्ट्रल रेलवे के जीएम राजीव चौधरी और इलाहाबाद मंडल के डीआरएम अमिताभ ने दस लोको पायलट को इलाहाबाद जंक्शन स्टेशन पर आयोजित समारोह में टैब सौंपा है। इस मौके पर इलाहाबाद मंडल के डीआरएम अमिताभ ने कहा है कि टैब से लोको पायलट की कार्यकुशलता बढ़ेगी। इसके साथ ही रेलवे मैनुअल और संरक्षा संबंधी दिशा निर्देश और जानकारियां अब लोको पॉयलट को ऑन लाइन मिलेगी।

इलाहाबाद मंडल में पहले चरण में लगभग तीन सौ लोको पॉयलट को टैब दिए जा रहे हैं। इसके बाद दूसरे चरण में बचे लगभग एक हजार लोको पॉयलट भी टैब से लैस कर दिये जायेंगे। इस मौके पर इलाहाबाद जंक्शन स्टेशन पर एनसीआर जीएम और डीआरएम ने सीसीटीवी कन्ट्रोल रुम का भी उद्घाटन किया। कुम्भ दौरान स्थापित कैमरों और दूसरे उपकरणों का प्रयोग कर इलाहाबाद जंक्शन स्टेशन पर स्थायी कन्ट्रोल रुम स्थापित कर दिया गया है।

स्टेशन पर लगाये गए 143 सीसीटीवी कैमरों की मदद से पूरे स्टेशन परिसर और प्लेटफार्मों की सुरक्षा और सफाई की निगरानी हो सकेगी। इसके साथ ही पर्वों पर स्टेशनों पर बढ़ने वाली भीड़ का नियन्त्रण भी कन्ट्रोल रुम से हो सकेगा और स्टेशन की सुरक्षा भी और पुख्ता होगी। डीआरएम के मुताबिक इलाहाबाद मंडल के दो स्टेशनों इलाहाबाद जंक्शन और कानपुर सेन्ट्रल में इस तरह के सीसीटीवी कन्ट्रोल रुम स्थापित किये जा रहे हैं।

प्रसून पांडे
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned