scriptMakarsankranti bathing festival will start grand and divine Magh Mela | मकरसंक्रांति स्नान पर्व पर संगम में आस्था की डुबकी लगाने के बाद करें तिल का दान, होगी मनोकामना पूर्ण- मौनी महराज | Patrika News

मकरसंक्रांति स्नान पर्व पर संगम में आस्था की डुबकी लगाने के बाद करें तिल का दान, होगी मनोकामना पूर्ण- मौनी महराज

गुरुवार को मकरसंक्रांति का पहला स्नान पर्व है इस दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है। इस दिन संगम में आस्था की डुबकी लगाने के बाद सफेद, काले तिल का दान करने से मनोकामना पूर्ण होती है। कल्पवासी एक ही श्रद्धाभाव के साथ माघ मेले में स्नान और कल्पवास करते हैं।

इलाहाबाद

Updated: January 13, 2022 09:12:06 pm

प्रयागराज: माघ मेला में जप-तप करने देश दुनिया से संत और महत्मा पहुंचते हैं। मकरसंक्रांति स्नान पर्व से माघ मेले की शुरुआत हो जाएगी। संतों की शिविर बनकर तैयार हो गई है। माघ मेले तपस्या करने पहुंचे मौनी महराज ने बात करते हुए कहा कि माघ मेला संतों और कल्पवासियों के लिए पवित्र पर्व है। यहां पर पूरे एक माह तपस्या करने से भक्तों की मनोकामना पूर्ण होती है।
मकरसंक्रांति स्नान पर्व पर संगम में आस्था की डुबकी लगाने के बाद करें तिल का दान, होगी मनोकामना पूर्ण- मौनी महराज
मकरसंक्रांति स्नान पर्व पर संगम में आस्था की डुबकी लगाने के बाद करें तिल का दान, होगी मनोकामना पूर्ण- मौनी महराज
गुरुवार को मकरसंक्रांति का पहला स्नान पर्व है इस दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है। इस दिन संगम में आस्था की डुबकी लगाने के बाद सफेद, काले तिल का दान करने से मनोकामना पूर्ण होती है। कल्पवासी एक ही श्रद्धाभाव के साथ माघ मेले में स्नान और कल्पवास करते हैं।
मकरसंक्रांति पर्व से माघ मेले में एक माह तक संकल्प लेकर कल्पवासी शुरू करेंगे कल्पवास

मौनी महराज ने कहा कि मकरसंक्रांति स्नान पर्व के साथ ही माघ मेले में संकल्प के साथ संत, महत्मा और कल्पवासी एक माह तक पूजा अर्चना करते हैं। माघ माह में तीर्थराज प्रयागराज में सभी देवी-देवताओं का आगमन होता है। ऐसे में यहां एक माह तक तपस्या करने से भक्तों की मनोकामना, पित्रों की आत्म शान्ति और परिवार में खुशहाली आती है। मकरसंक्रांति पर्व पर विधिविधान से पूजा अर्चना करने से पारिवारिक कष्टों से मुक्ति मिलती है।
यह भी पढ़ें

मकरसंक्रांति स्नान पर्व से शुरू माघ मेला, कोरोना नियमों का पालन करते हुए श्रद्धालु लगाएंगे आस्था की डुबकी

स्नान के बाद यह काम करें पूरा

मौनी महराज उर्फ रुद्राक्ष बाबा ने कहा कि गुरुवार को 2 बजे के बाद सूर्य मकर राषि में प्रवेश करेगा इसीलिए इस बार मकर संक्रांति का स्नान 14 और 15 जनवरी को होगा। संत यही नियमानुसार 15 को संगम में आस्था की डुबकी लगाएंगे। तपस्या के दृष्टि से हर किसी के लिए मकरसंक्रांति का स्नान और दान करना लाभकारी होगा। मकरसंक्रांति स्नान के बाद कल्पवासी एकाहार होकर कल्पवासी कल्पवास शुरू कर देते हैं।
यह भी पढ़ें

माघ मेले का कल है पहला स्नान पर्व, इन रूटों से पहुंचे संगम मेला क्षेत्र, इन नियमों का करना होगा पालन

संगम में आस्था की डुबकी लगाने से देवी-देवता होते हैं प्रसन्न

मौनी महराज ने कहा कि माघ मेले में पूरे माह आस्था की डुबकी लगाने से देवी-देवता प्रसन्न होते है। नियमित यहां तपस्या करने से पारिवरिक बाधाओं से मुक्ति मिलती है। संगमनगरी माघ मेले में एक माह तक देवी-देवताओं का वास रहता है इसीलिए नियमित पूजा अर्चना करने धन, संपति, संतान और रुके हुए कार्य पूरे होते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Corona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरGhana: विनाशकारी विस्फोट में 17 लोगों की मौत, 59 घायलभारत ने जानवरों के लिए विकसित किया पहला कोरोना वैक्सीन,अब शेर और तेंदुए पर ट्रायल की योजना50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीT20 World Cup 2022: ICC ने जारी किया शेड्यूल, इस दिन होगी भारत-पाकिस्तान की टक्करआज जारी होगा कांग्रेस का घोषणा पत्र, युवाओं के लिए होंगे कई वादे'कुछ लोग देशप्रेम व बलिदान नहीं समझ सकते', अमर जवान ज्योति के वॉर मेमोरियल में विलय पर राहुल गांधीVIDEO: राजस्थान का 35 प्रतिशत हिस्सा कोहरे से ढका, अब रहेगा बारिश और ओलावृष्टि का जोर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.