विधायक आहूजा ने कहा, गोमाता पर अटैक तो गुस्सा आएगा, मेव पंचायत के शेर मोहम्मद ने विधायक को बताया मुल्जिम

अलवर मॉब लिंचिंग मामले में ज्ञानदेव आहूजा ने का कि गोमाता पर अटैक तो गुस्सा ही आएगा।

By: Prem Pathak

Published: 24 Jul 2018, 10:03 AM IST

अलवर . मामले में रामगढ़ विधायक ज्ञानदेव आहूजा का कहना है कि उन्होंने कभी यह नहीं कहा कि पिटाई करने वाले उनकेआदमी थे। रकबर की पिटाई करने वाली गांव की जनता थी। यदि वह गोतस्कर नहीं था तो रात में क्यों जा रहा था। सीधे-सीधे रास्ते से जाता। कच्चे-पक्के रास्तों से चोरों की तरह जाने की क्या जरूरत थी। उसके खिलाफ पूर्व में भी गोतस्करी के मामले दर्ज हैं। उन्होंने कहा कि ये भारत मां का देश है। गोमाता पर कोई अटैक करेगा तो जनता को गुस्सा आएगा। गांव की जनता ने उसे इनता नहीं पीटा, कि उसकी मौत हो जाती। उसकी मौत पुलिस कस्टडी में हुई है। पुलिस ने उसे समय पर अस्पताल क्यों नहीं पहुंचाया। उसकी मौत के लिए पुलिस जिम्मेदार है।

पुलिस करे लोकेशन की जांच

मेव पंचायत के संरक्षक शेर मोहम्मद ने ललावंडी में युवक की पीट-पीटकर हत्या के लिए पुलिस के साथ-साथ खुद को घटना का चश्मदीद गवाह बताने वाले नवल किशोर शर्मा को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि नवल मामले का सबसे बड़ा मुल्जिम है। वह घटना के समय खेत में छिपा बैठा था। उनके पास इसके पर्याप्त सबूत हैं। रकबर के साथी असलम ने भी अपने बयानों में यह बात कही है।

पुलिस नवल की लोकेशन की जांच करे और यह पता लगाए कि घटना के वक्त वह कहां था, तो सारी सच्चाई खुद व खुद सामने आ जाएगी। उन्होंने कहा कि मामले के दूसरे मुल्जिम रामगढ़ विधायक ज्ञानदेव आहूजा हैं, जो कह रहे हैं कि पीटने वाले मेरे लोग हैं। उन्होंने तो केवल पीटा था। मारने वाली तो पुलिस है। ऐसे में वे सीधे-सीधे 120 बी के मुल्जिम बनते हैं। उन्होंने कहा कि घटना के बाद मुकदमेे को घुमाने का खेल चल रहा है।

एडीजी व आईजी ने किया मुआयना

आईजी हेमन्त प्रियदर्शी, एडीजी एनआरके रेड्डी, मामले की जांच अधिकारी एवं क्राइम एंड विजिलेंस जयपुर वंदना भाटी सहित अन्य पुलिस अधिकारी घटना स्थल पहुंचे। घटना स्थल पर पुलिस उप अधीक्षक दक्षिण अनिल बेनिवाल ने जांच टीम व अधिकारियों को घटना के बारे में जानकारी दी।

सीबीआई से जांच कराने की मांग

जयपुर. अलवर में गौ तस्करी के आरोप में भीड़ की ओर से पीट-पीटकर मारे गए अकबर खान मामले की जांच कांग्रेस ने सीबीआई से कराए जाने की मांग की। जयपुर में चुनाव कार्यशाला के दौरान मीडिया से बातचीत में पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अलवर में हुई इस घटना को गंभीर बताते हुए कहा कि इसकी सीबीआई जांच कराई जाए। इसी प्रकार राष्ट्रीय सचिव जितेन्द्र सिंह ने भी यह मामला तत्काल सीबीआई को सौंपे जाने के लिए कहा। वहीं प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट ने घटना की तत्काल जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई किए जाने की मांग की।

Prem Pathak Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned