मंत्री पुत्रों को सरकारी सुरक्षा का कवच, पीडि़त युवक के पिता ने किया आत्मदाह का प्रयास

मंत्री पुत्रों को सरकारी सुरक्षा का कवच, पीडि़त युवक के पिता ने किया आत्मदाह का प्रयास

Rajeev Goyal | Publish: Dec, 25 2017 12:11:18 PM (IST) Alwar, Rajasthan, India

अलवर में मंत्री हेमसिंह भडाना के पुत्रों द्वारा की गई मारपीट पर पीडि़त के पिता आत्म हत्या का प्रयास करने कोर्ट पहुंचे।

अलवर. राज्य के काबिना मंत्री हेमसिंह भडाना के पुत्रों पर मापरपीट और अपहरण के आरोपों पर पुलिस के मौन पर अब मामला गरमा रहा है। मारपीट और अपहरण में घायल हुए युवक के पिता ने मंत्री के पुत्रों की गिरफ्तारी तो दूर पूछताछ तक नहीं होने से आत्मदाह का प्रयास किया। पीडि़त के पिता सतीश यादव ने तीन दिन पहले ही आत्मदाह की चेतावनी दी थी। सोमवार सुबह वह अचानक से अलवर के जिला न्यायालय परिसर में पहुंच गया और आत्मदाह की तैयारी करने लगा। पुलिस ने उन्हेें तत्काल पकड़ लिया और आत्मदाह के प्रयास के मामले में हिरासत में ले लिया।

क्या है मामला
21 अक्टूबर को मंत्री के पुत्रों पर तेज ङ्क्षसह के साथ मारपीट करने का आरोप लगा था। तेज सिंह रात को सामान्य अस्पताल में पहुंचा। अस्पताल के ट्रोमा सेंटर में मरीज का इलाज हुआ। कुछ देर बाद परिजन उसे लेकर एक निजी अस्पताल में पहुंचे। रात को घायल की सीटी स्केन हुई। अभी युवक का इलाज आईसीयू में चल रहा है।


अब तक पूछताछ क्यों नहीं?


मंत्री के पुत्रों से पुलिस ने अभी तक किसी भी तरह की पूछताछ नहीं की। जबकि पीडि़त युवक व उसके परिजनों से कई बार पूछताछ की जा चुकी है। हालांकि पुलिस का दावा है कि वो मंत्री के घर पर गए थे। लेकिन पुत्र घर पर नहीं मिले। जल्द ही उन से पूछताछ की जाएगी।

मंत्री पुत्र पर पहले भी लगे थे गंभीर आरोप


मंत्री के पुत्रों पर पहले भी कई गम्भीर आरोप लग चुके हैं। अपना घर शालीमार सोसायटी में एक युवती के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगा था। उसके बाद भी कई बार मारपीट करने व धमकी देने के आरोप लगते रहे हैं। लेकिन हर बार पिता मंत्री होने के चलते युवक बचते रहे हैं।

चुनावों में मुद्दा गरमा सकता है


मंत्री के पुत्रों द्वारा मारपीट का मामला आगामी चुनाव में मुद्दा बन सकता है। क्योंकि कांग्रेस के नेता पहले ही दिन अस्पताल में पहुंच गए थे। हालांकि उसके बाद अचानक नेता इस पूरे मामले में चुप हो गए। लेकिन मामले की गम्भीरता को देखते हुए लगता है कि यह मामला चुनाव का मुद्दा बन सकता है।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned