... और दुर्घटनाग्रस्त होने से बच गई साबरमती एक्सप्रेस

... और दुर्घटनाग्रस्त होने से बच गई साबरमती एक्सप्रेस
Sabarmati Express

Shatrudhan Gupta | Updated: 29 Oct 2017, 04:43:08 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

आनन-फानन में अकबरपुर रेलवे स्टेशन से शाहगंज बाया वाराणसी के लिए रवाना की गई साबरमती एक्सप्रेस को रास्ते में ही रोक दिया गया।

अंबेडकर नगर. रेलवे की लाख कोशिशों के बावजूद रेल पटरियों में एक न एक खामियां आये दिन सामने आ रही हैं। अंबेडकर नगर जिले में एक माह के भीतर रेल पटरी फैक्कचर होने का रविवार को दूसरा मामला सामने आया है। गनीमत रही कि समय रहते साबरमती एक्सप्रेस को रास्ते में ही रोक दिया गया, नहीं तो बड़ा हादसा हो सकता था। जानकारी के मुताबिक अकबरपुर रेलवे स्टेशन के गेट नंबर 81 सी के पास रेल पटरी फैक्कचर की जानकारी वहां तैनात गेट मैन ने साबरमती के आने से कुछ मिनट पहले ही स्टेशन मास्टर को दिया। खबर मिलते ही विभागीय अधिकारियो और कर्मचारियों के होश उड़ गए। आनन-फानन में अकबरपुर रेलवे स्टेशन से शाहगंज बाया वाराणसी के लिए रवाना की गई साबरमती एक्सप्रेस को रास्ते में ही रोक दिया गया, जिससे आज एक बार फिर एक बड़ा रेल हादसा होते-होते बच गया।

रेलवे विभाग के अधिकारी पहुंचे मौके पर

रेल पटरी के फै्रक्कचर होने की जानकारी मिलते ही अधिकारियों के होश उड़ गए। रेल अफसरों ने बिना देर किए सभी ट्रेनों को रोक दिया। स्टेशन अधीक्षक सहित रेल कर्मचारी मौके पर पहुंच गए और रेल पटरी में लगाए जाने वाले फिश प्लेट को सही करने का काम शुरू कराया गया। इस दौरान लगभग आधे घण्टे तक साबरमती एक्सप्रेस बीच रास्ते में ही रुकी रही, जिसके बाद इस रेल पटरी से साबरमती सहित अन्य गाडिय़ों को धीमी गति से गुजारा जा रहा है। रेल विभाग की टेक्नीकल टीम मौके पर पहुुंचकर फैक्कचर पटरी की जांच में जुटी हुई है।

इससे पूर्व भी रेल पटरी फै्रक्कचर से टला था बड़ा हादसा

विगत कुछ महीनों में यूपी कई रेल हादसे सामने आ चुके हैं, इससे यात्री सहमे हुए हैं। अंबेडकर नगर में भी लगातार दो बार ट्रेन हादसा होते-होते टल गया। इस घटना से कुछ दिनों पहले ही कटेहरी रेलवे स्टेशन के समीप पटरी टूटी होने के बावजूद कई ट्रेनें उस पर से गुजर गई थीं, लेकिन गनीमत यह रही कि कोई हादसा नहीं हुआ। यहां पर ग्रामीणों ने टूटी पटरी देखकर इसकी सूचना रेल विभाग को दी थी। इसके बाद विभाग में हड़कंप मच गया और रेल अफसर एक्टिव हो गए थे।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned