जानें सीएम भूपेश बघेल कैबिनेट में 13वें मंत्री बनने जा रहे अमरजीत भगत का अब तक राजनीतिक सफर

जानें सीएम भूपेश बघेल कैबिनेट में 13वें मंत्री बनने जा रहे अमरजीत भगत का अब तक राजनीतिक सफर

Ram Prawesh Wishwakarma | Updated: 28 Jun 2019, 07:57:54 PM (IST) Ambikapur, Surguja, Chhattisgarh, India

Amarjeet Bhagat : छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद सीतापुर विधानसभा से अमरजीत भगत लगातार चौथी बार निर्वाचित हुए हैं विधायक

अंबिकापुर. छत्तीसगढ़ में इस बार कांग्रेस की सरकार बनने के बाद सीतापुर विधानसभा से लगातार चौथी बार निर्वाचित विधायक अमरजीत भगत (Amarjeet Bhagat) को मंत्री पद मिलना तय माना जा रहा था लेकिन राजनीतिक उथल-पुथल के बीच सीएम भूपेश बघेल की कैबिनेट (Bhupesh Baghel Cabinet) में उन्हें जगह नहीं मिल पाई थी।

कुछ दिन से उन्हें पीसीसी अध्यक्ष बनाने का भी बाजार भी गर्म था। यह भी अटकलें लगाई जा रही थीं कि उन्हें भूपेश कैबिनेट में जगह दी जा सकती है।

अंतत: इससे पर्दा हट गया और पीसीसी अध्यक्ष की कमान कोंडागांव विधायक मोहन मरकाम को दिया गया, जबकि अमरजीत भगत (Amarjeet Bhagat) को सीएम भूपेश बघेल की कैबिनेट में 13वें मंत्री के रूप में शामिल कर लिया गया। वे 29 जून को मंत्री पद की शपथ लेंगे।

 

यह भी पढ़ें : इस वर्ष एमबीबीएस की 100 सीटें बचाने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवद्र्धन से मिले टीएस-रेणुका


किसान परिवार के हैं अमरजीत भगत
सीतापुर विधायक अमरजीत भगत (Amarjeet Bhagat) सूरजपुर ब्लॉक के ग्राम पंचायत पार्वतीपुर के निवासी हैं। वे 3 भाइयों में सबसे बड़े हैं। उनकी प्राथमिक शिक्षा गांव में ही हुई, जबकि मिडिल स्कूल तक की पढ़ाई उन्होंने जयनगर से की। हाईस्कूल से लेकर कॉलेज तक की पढ़ाई उन्होंने अंबिकापुर में की।

यहां से ही उन्होंने अपने राजनीतिक कैरियर की शुरुआत भी की। अविभाजित सरगुजा में कोयला खदानों में ग्रामीणों को नौकरी व मुआवजा दिलाने उन्होंने कई आंदोलन किए थे। इसमें उन्हें सफलता भी मिली, उन्होंने ग्रामीणों को उनका हक दिलाया। अमरजीत भगत के दो पुत्र हैं इनमें एक सिविल जज जबकि दूसरे राजनीति में हंै।

 

यह भी पढ़ें : सीएम भूपेश बोले- लोकसभा चुनाव में ऐसी हार की नहीं थी उम्मीद, कहा- इस विधायक को हाईकमान देने जा रही है बड़ी जिम्मेदारी


ऐसा है राजनीतिक सफर
अमरजीत भगत (M Amarjeet eet Bhagat) ने पहली बार जनपद सदस्य का चुनाव लड़ा, जिसमें उन्हें जीत हासिल हुई। विधानसभा चुनाव उन्होंने अविभाजित मध्यप्रदेश में पहली बार सरगुजा के पिल्खा विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में लड़ा था। इसमें उन्हें हार का सामना करना पड़ा था।

इसके बाद उन्हें छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने कांग्रेस से सीतापुर विधानसभा क्षेत्र से वर्ष 2003 में टिकट दी। इसमें उन्होंने 5 हजार से अधिक वोट से जीत दर्ज की थी। इसके बाद से उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। वर्ष 2008, 2013 व 2018 में लगातार चौथी बार सीतापुर से विधायक बने।

 

यह भी पढ़ें : मीटिंग में भड़क गए सीएम भूपेश, बैंक के सीईओ और मैनेजर को भरी महफिल में दी ये सजा, विद्युत विभाग के सीई को लगाई फटकार


लोकसभा चुनाव में भी अपने क्षेत्र से दिलाई थी बढ़त
विधायक अमरजीत भगत (Amarjeet Bhagat) जब वर्ष 2018 में विधानसभा चुनाव लड़े तो लोगों में यह चर्चा थी कि इस बार उनके लिए जीतकर आना मुश्किल होगा, लेकिन इस बार भी उन्होंने जीत दर्ज की। हालांकि प्रदेश में कांग्रेस ने 68 सीट जीत कर सत्ता संभाली।

इस वर्ष हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा ने सरगुजा संसदीय सीट से भारी मतों से जीत दर्ज की लेकिन अमरजीत भगत ने अपने विधानसभा क्षेत्र से करीब 10 हजार वोटों से कांग्रेस को बढ़त दिलाई थी। इससे पार्टी में उनका कद और बढ़ा। आज रिजल्ट सबके सामने है, वे सीएम भूपेश बघेल के मंत्रिमंडल (Bhupesh Baghel Cabinet) में 13वें मंत्री के रूप में शामिल हुए।

 

विधायक अमरजीत भगत से जुड़ी खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- Amarjeet Bhagat

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned