एनएच पर तेज रफ्तार टैंकर ने साइकिल चला रहे बालक को रौंदा, सिर पर पहिया चढऩे से दर्दनाक मौत

Road accident: चेहरा व सिर कुचल जाने (Crushed) से शिनाख्त होने में लगा समय, मासूम बेटे की मौत से माता-पिता सदमे में, रो-रोकर हो गया बुरा हाल

By: rampravesh vishwakarma

Published: 22 Oct 2020, 10:46 PM IST

अंबिकापुर. शहर के बिलासपुर चौक स्थित पेट्रोल पंप के पास एक टैंकर ने साइकिल सवार बालक को रौंद दिया। इससे उसकी मौके पर ही मौत (Death in road accident) हो गई। इस दौरान टैंकर का चालक व परिचालक वाहन खड़ा कर मौके से फरार हो गए।

मृतक का सिर टैंकर का पहिया चढऩे से क्षत-विक्षत हो गया था, इसलिए उसकी शिनाख्त काफी देर से हुई। इस हादसे से परिजन सदमे में हैं, उनका रो-रोकर बुरा हाल है। मामले में पुलिस ने दुर्घटनाकारी टैंकर को जब्त कर लिया है।

Read More: तेज रफ्तार ट्रक ने बाइक सवार 2 युवकों को दी दर्दनाक मौत, रिश्तेदार के घर से लौटने के दौरान हादसा


शहर के मठपारा निवासी 10 वर्षीय सूरज लकड़ा पिता स्व. राजेन्द्र लकड़ा गुरुवार की सुबह 9.30 बजे दोस्त के साथ अलग-अलग साइकिल चलाते हुए बिलासपुर चौक से सांड़बार बेरियर की ओर जा रहे थे।

दोनों पेट्रोल पंप के पास जैसे ही पहुंचे थे कि बिलासपुर से अंबिकापुर की ओर आ रहे टैंकर क्रमांक सीजी 7 सीबी 226 साइकिल सवार सूरज को टक्कर मार दी। इससे बालक गिरकर टंैकर के पिछले पहिए के नीचे आ गया और पहिया किशोर के सिर पर चढ़ गया। इससे उसकी मौके पर ही मौत (Death) हो गई।

इस दौरान उसका दोस्त डर से वहां से भाग गया। वहीं वाहन चालक व परिचारक भी घटनास्थल पर ही वाहन छोडक़र मौके से फरार हो गए। सूचना पर मणिपुर चौकी पुलिस मौके पर पहुंची। तब तक सडक़ के दोनों ओर वाहनों की लंबी लाइन लग चुकी थी। पुलिस ने शव को पीएम के लिए मरच्यूरी में रखवा दिया। (Road accident)

Read More: तेज रफ्तार कार ने घर बाइक सवार कॉलरीकर्मी को मारी टक्कर, दर्दनाक मौत, घर पहुंचने से पहले हुआ हादसा


देर शाम शव की हो सकी शिनाख्त
घटना बालक के घर के पास होने के बावजूद भी परिजन को घटना की जानकारी नहीं चल पाई। पुलिस ने अज्ञात मानते हुए शव को घटनास्थल से उठावाकर मरच्यूरी में रखवा दिया था ताकि परिजन के आने के बाद पीएम कराया जाएगा। वहीं उसके दोस्त में घटना के बारे में परिजन को नहीं बताया।

जब शाम तक बालक घर नहीं पहुंचा तो परिजन तलाश करते हुए मणिपुर चौकी पहुंचे। देर शाम को परिजन ने शव को पहचान किया। शव को देखते ही परिजन सदमे में आ गए, उनका रो-रोकर बुरा हाल हो गया।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned