इस शहर में लगातार हो रही चोरियां, चोरों ने इस बार एसईसीएल कर्मी के सूने मकान से 1 लाख की चोरी

Theft in city: 40 हजार नकद व 60 हजार रुपए के जेवर किए पार, पड़ोसियों ने मोबाइल पर चोरी की दी जानकारी

अंबिकापुर। शहर के गोधनपुर में एसईसीएल कर्मचारी के सूने मकान में चोरों ने धावा बोलकर अलग-अलग कमरे में रखी दो आलमारी से जेवरात व 40 हजार रुपए नकद पार कर दिया है। कुल चोरी 1 लाख से ज्यादा की बताई जा रही है। एसईसीएल कर्मी11 जनवरी को घर में ताला बंद कर परिवार के साथ कुम्दा गए थे।

शनिवार को पड़ोसी ने घर का ताला टूटने की जानकारी मोबाइल से एसईसीएल कर्मचारी को दी थी। कर्मचारी के पुत्र ने अंबिकापुर पहुंच कर मामले की शिकायत गांधीनगर थाने में दर्ज कराई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। (Theft in Ambikapur)


शहर के गोधनपुर स्थित २३ एकड़ तालाब के समीप अविनाश पांडेय का घर है। इसके पिता एसईसीएल कुम्दा में कार्यरत हैं। इस कारण ११ जनवरी को घर में ताला बंद कर सभी परिवार कुम्दा गए थे। 18 जनवरी को पड़ोसी ने मोबाइल से अविनाश को जानकारी दी कि आपके घर का ताला टूटा हुआ है।

सूचना पर अविनाश अपने परिवार के साथ अंबिकापुर स्थित अपने मकान में पहुंचा। यहां घर का मेन गेट का ताला टूटा हुआ था। जब अंदर घुसे तो कमरे का भी ताला टूटा हुआ था और सारा सामान बिखरा पड़ा था।

एक कमरे में रखी आलमारी में 40 हजार रुपए नकद व दूसरे कमरे की अलमारी से मां व भाभी के सोने के 60 हजार के जेवर गायब थे। उसने इसकी जानकारी गांधीनगर पुलिस को दी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच की। (Theft in City)

इस शहर में लगातार हो रही चोरियां, चोरों ने इस बार एसईसीएल कर्मी के सूने मकान से 1 लाख की चोरी

डॉग स्क्वायड की भी ली गई मदद
चोरों का सुराग लगाने पुलिस ने डॉग स्क्वायड टीम को जानकारी दी। डॉग स्क्वायड की टीम मौके पर पहुंची और जांच की। चोरी की घटना के बाद बारिश हो जाने के कारण कुत्ता कोई सुराग नहीं ढूंढ पाया व कुछ ही दूरी पर जाकर भटक गया। फिलहाल पुलिस ने अज्ञात चोरों के खिलाफ धारा 380 व 457 के तहत अपराध दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

अंबिकापुर शहर में चोरी की खबरें पढऩे के लिए क्लिक करें- Theft in Ambikapur

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned