scriptदुनियाभर में चप्पे-चप्पे पर होगी अमरीका की नजर, स्पेसएक्स बिछाएगी उपग्रहों का जाल | America will keep an eye on every corner of the world | Patrika News

दुनियाभर में चप्पे-चप्पे पर होगी अमरीका की नजर, स्पेसएक्स बिछाएगी उपग्रहों का जाल

locationनई दिल्लीPublished: Mar 18, 2024 01:37:18 am

Submitted by:

ANUJ SHARMA

अंतरिक्ष से जासूसी : जमीनी बलों को मजबूत करने के लिए बड़े पैमाने पर निवेश

दुनियाभर में चप्पे-चप्पे पर होगी अमरीका की नजर, स्पेसएक्स बिछाएगी उपग्रहों का जाल
दुनियाभर में चप्पे-चप्पे पर होगी अमरीका की नजर, स्पेसएक्स बिछाएगी उपग्रहों का जाल
वॉशिंगटन. एलन मस्क की कंपनी स्पेसएक्स अमरीकी खुफिया एजेंसी एनआरओ (नेशनल रिकॉनसेंस ऑफिस) के साथ गुप्त अनुबंध के तहत सैकड़ों जासूसी उपग्रहों का नेटवर्क तैयार कर रही है। अमरीका अपने जमीनी बलों को मजबूत करने और दुश्मनों पर नजर रखने के लिए पृथ्वी की परिक्रमा करने वाले सैटेलाइटों का विशाल नेटवर्क बनाने में बड़े पैमाने पर निवेश कर रहा है। अगर यह प्रोजेक्ट सफल होता है तो अमरीकी सरकार और सेना दुनिया में करीब-करीब कहीं भी संभावित लक्ष्यों को तुरंत पहचानने की क्षमता काफी हद तक बढ़ा लेगी।अधिकृत सूत्रों के मुताबिक नेटवर्क का निर्माण स्पेसएक्स की स्टारशील्ड बिजनेस यूनिट और एनआरओ के बीच 1.8 अरब डॉलर के अनुबंध के तहत किया जा रहा है। एनआरओ जासूसी उपग्रहों का मैनेजमेंट करती है। अमरीकी अखबार वॉल स्ट्रीट जर्नल ने पिछले महीने इस कॉन्ट्रेक्ट के बारे में खुलासा किया था। हालांकि रिपोर्ट में स्पेसएक्स का नाम नहीं बताया गया था।
पृथ्वी की कक्षा में उपग्रहों का झुंड

स्पेसएक्स के साथ अनुबंध के तहत शक्तिशाली नई जासूसी प्रणाली की स्थापना की जाएगी। इसके लिए पृथ्वी की स्क्रीनिंग करने वाले सैकड़ों उपग्रह लॉन्च किए जाएंगे, जो पृथ्वी की एक निश्चित कक्षा में झुंड के रूप में काम करेंगे।
लॉन्चिंग तय नहीं

फिलहाल यह तय नहीं है कि उपग्रहों को कब लॉन्च किया जाएगा। यह भी गुप्त है कि इस प्रोजेक्ट में एनआरओ ने स्पेसएक्स के अलावा कौन-सी दूसरी कंपनियों के साथ अनुंबध किया है।

ट्रेंडिंग वीडियो