इथोपिया विमान हादसा: अमरीकी संघीय कोर्ट में बोइंग के खिलाफ FIR दर्ज

इथोपिया विमान हादसा: अमरीकी संघीय कोर्ट में बोइंग के खिलाफ FIR दर्ज

Anil Kumar | Publish: Mar, 29 2019 03:27:36 AM (IST) | Updated: Mar, 29 2019 07:37:59 AM (IST) अमरीका

  • इसी महीने इथोपियन एयरलाइंस का बोइंग 737 MAX- 8 हादसे का शिकार हो गया था।
  • इस हादसे में चार भारतीय समेत 157 लोगों की मौत हो गई थी।
  • बीते पांच महीने में यह दूसरा बड़ा हादसा था।

वाशिंगटन। इथोपियन एयरलाइंस दुर्घटना मामले में अमरीका के संघीय कोर्ट में बोइंग के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है। यह मुकदमा शिकागो के फेडरल कोर्ट में दर्ज रवांडा के रहने वाले जैक्सन मूसोनी के परिवार ने कराया है। अपने शिकायत में मूसोनी ने आरोप लगाते हुए कहा है कि बोइंग ने 737 MAX का निर्माण किया, जो कि दोषपूर्ण रूप से स्वचालित उड़ान नियंत्रण प्रणाली के आधार पर डिजाइन किया गया था। इंडोनेशिया के लाइन एयर क्रैश जिसमें 189 लोगों की मौत हो गई थी, के पांच महीने बाद इथोपियन एयरलाइंस के इतने बड़े दुर्घटना को पूरी दुनिया में देखा गया। बुधवार को बोइंग ने अपने एक बयान में कहा था कि 737 MAX में गलत डाटा को रोकने के लिए दो एंटी-स्टॉल सिस्टम लगाया गया है, जिसे अब बीते पांच महीने में दो बड़े हादसों के बाद जांच किया जा रहा है।

 

दुनियाभर के 25 देशों ने लगाया है बैन

बता दें कि इथोपियन विमान के हादसा होने के बाद भारत सहित दुनियाभर के कई देशों ने इथोपियन विमान हादसे के बाद से अपने देश में उड़ान पर रोक लगा दी है। मलेशिया, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, इंडोनेशिया, चीन, इथोपिया, सिंगापुर और दक्षिण कोरिया समेत 25 देशों ने इन विमानों के उड़ान भरने पर रोक लगा दी है। उधर अमरीका के संघीय विमानन प्रशासन ने घोषणा की है कि अगर बोइंग 737 मैक्स में सुरक्षा संबंधी कोई खामी पाई जाती है तो उचित कार्रवाई की जाएगी। इतना ही नहीं यूनाइटेड किंगडम (यूके) ने तो अपने एयरस्पेस में ही इन विमानों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। आपको बता दें कि इस घटना में 157 लोग मारे गए थे।

इथोपिया विमान दुर्घटना: सवालों के घेरे में बोइंग 737 मैक्स 8 जेट, 25 देशों ने उड़ान भरने पर लगाई रोक

सवालों के घेरे में बोइंग 737 मैक्स 8 जेट

दुनिया की सबसे बड़ी विमान निर्माता कंपनी बोइंग अपने 737 मैक्स 8 जेट्स की सुरक्षा पर सवालों का सामना कर रही है। चार महीनों के भीतर 737 मैक्स 8 जेट्स के साथ होने वाले हादसे के बाद दुनिया भर में इन विमानों की सुरक्षा को लेकर बहस शुरू हो गई है। इथोपियन एयरलाइंस की घातक दुर्घटना के बाद चीन वह पहला देश था जिसने विमानों की ग्राउंडिंग का आदेश दिया। उसके बाद तो एक के बाद कई देशों ने इन विमानों के उड़ने पर रोक लगा दी।

इथोपिया विमान हादसा: उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु ने बुलाई आपात बैठक, भारत ने बोइंग 737 मैक्स 8 पर लगाया बैन

6 महीने के भीतर यह दूसरा विमान हादसा

मालूम हो कि यह आपदा पिछले 4 महीनों में 737 मैक्स 8 के साथ दूसरी दुर्घटना थी। अक्टूबर में लायन एयर प्लेन का विमान इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता के पास समुद्र में दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जिससे सभी 189 लोग मारे गए। अब अफ्रीका के सबसे बड़े वाहक इथोपिया एयरलाइन्स ने घोषणा की है कि वह अपने 737 मैक्स विमानों को सेवा से बाहर ले जाएगा। इससे पहले सोमवार को चीन के नागरिक उड्डयन प्रशासन ने देश की एयरलाइंस को बोइंग 737 मैक्स 8 विमान जमीन पर उतरने के आदेश दिए थे। बता दें कि 10 मार्च (रविवार) की सुबह हुए इस हादसे में 157 लोगों की मौत हो गई थी, इसमें चार भारतीय भी शामिल थे।

 

Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned