Afghanistan: पूर्वी क्षेत्र में हवाई हमलों में Talibani समेत 45 नागरिकों की मौत

HIGHLIGHTS

  • स्थानीय अधिकारियों ने बताया कि पूर्वी अफगानिस्तान ( Eastern afghanistan ) में हुए हवाई हमलों ( Air Strike ) में तालिबानियों समेत 45 लोगों की मौत हुई है।
  • हेरात प्रांत ( Herat Province ) के एड्रास्कन जिले के गवर्नर अली अहमद फ़कीर यार ने बताया कि मरने वालों में कम से कम आठ नागरिक थे।
  • अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय ( Afghanistan Ministry of Defense ) ने कहा कि वह क्षेत्र में अफगान बलों द्वारा हवाई हमलों की जांच के परिणाम जनता और मीडिया के साथ साझा किए जाएंगे।

By: Anil Kumar

Updated: 23 Jul 2020, 05:18 PM IST

काबुल। अफगानिस्तान ( Afghanistan ) में शांति बहाली को लेकर तालिबान और अमरीका ( America Taliban Talk ) के बीच वार्ता हो चुकी है, लेकिन इसके बावजूद हमलों का सिलसिला बदस्तूर जारी है। इसी कड़ी में पूर्वी अफगानिस्तान में हवाई हमलों ( Air Strike In Afghanistan ) में तालिबानियों समेत 45 नागरिकों की मौत हो हुई है।

स्थानीय अधिकारियों ने बुधवार को जानकारी देते हुए बताया कि पूर्वी अफगानिस्तान में लगातार हो रहे हवाई हमलों में तालिबानियों समेत 45 लोगों की मौत हुई है। हेरात प्रांत ( Herat Province ) के एड्रास्कन जिले के गवर्नर अली अहमद फ़कीर यार ने बताया कि मरने वालों में कम से कम आठ नागरिक थे।

अफगानिस्तान: अमरीकी एयरबेस के पास हुए हमले की तालिबानी ने ली जिम्मेदारी, 2 की हुई थी मौत

उन्होंने कहा, 'सुरक्षाबलों ने खाम जियारत क्षेत्र में तालिबानियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए हवाई हमले किए जिसमें अब तक 45 लोग मारे गए हैं। फिलहाल ये स्पष्ट नहीं है कि शेष 37 में से कितने नागरिक हैं और कितने तालिबानी सदस्य हैं। तालिबान के प्रवक्ता कारी मुहम्मद यूसुफ अहमदी ( Taliban spokesman Qari Muhammad Yusuf Ahmadi ) ने एक बयान में कहा कि दो हवाई हमलों में आठ नागरिकों की मौत हो गई और 12 घायल हो गए।

इधर इस हमले को लेकर अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय ( Afghanistan Ministry of Defense ) ने कहा कि वह क्षेत्र में अफगान बलों ( Afghan Force ) द्वारा हमलों में नागरिकों के मारे जाने के आरोपों की जांच कर रहा है। बहुत जल्द जांच के परिणाम जनता और मीडिया के साथ साझा किए जाएंगे।

अमरीकी सेना ने हवाई हमले से किया इनकार

पड़ोसी गुज़ारा जिले के एक स्थानीय अधिकारी हबीब अमिनी ने इस घटना की पुष्टि की। इधर रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि राष्ट्रीय रक्षा और सुरक्षा बलों के पास लोगों के जीवन और संपत्ति की सुरक्षा करने की जिम्मेदारी है, इस संबंध में, वे सभी अवसरों और सुविधाओं का उपयोग करते हैं और किसी भी प्रयास को नहीं छोड़ेंगे।

हवाई हमलों में नागरिकों के मारे जाने को लेकर अफगानिस्तान में हलचल तेज हैं। इधर अमरीकी सेना ( American Troops ) के एक प्रवक्ता ने बुधवार को हवाई हमले ( Air Strike ) से इनकार करते हुए साफ कर दिया कि इससे उनका कोई लेना-देना नहीं है। बहरहाल, यह हवाई हमला किसने किया इसको लेकर जांच की जा रही है।

अफगानिस्तान: बागी जवानों ने साथी सुरक्षाबलों पर की ताबतोड़ फायरिंग, 23 की मौत

बता दें कि अमरीका और तालिबान के बीच इस साल फरवरी में अफगानिस्तान में शांति ( Afghanistan Peace Talk ) बहाली को लेकर एक समझौता हुआ था। इस समझौते के तहत ही अमरीका अपने सैनिकों की संख्या को कम रहा है। अमरीकी सैनिकों की वापसी का उद्देश्य तालिबानी विद्रोहियों और अफगान सरकार के बीच औपचारिक शांति वार्ता का मार्ग प्रशस्त करना है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned