चीन ने नया समुद्री उपग्रह छोड़ा, पानी और वातावरण के बदलाव को समझने में मिलेगी मदद

चीन ने नया समुद्री उपग्रह छोड़ा, पानी और वातावरण के बदलाव को समझने में मिलेगी मदद

Shweta Singh | Publish: Sep, 07 2018 05:02:32 PM (IST) एशिया

सुबह 11.15 बजे ताइयुआन उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से छोड़ा गया उपग्रह।

बीजिंग। चीन ने समुद्री जल और वातावरण को लेकर एक बड़ा कदम उठाया है। बताया जा रहा है कि वहां शुक्रवार को समुद्री जल और वातावरण परिवर्तनों की समझ को और बेहतर समझने के लिए समुद्री उपग्रह छोड़ा है। इस बारे में मीडिया रिपोर्ट से जानकारी मिल रही है।

सुबह 11.15 बजे ताइयुआन उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से छोड़ा गया उपग्रह

एक चीनी समाचार एजेंसी की रिपोर्ट की माने तो ये उपग्रह वहां सुबह 11.15 बजे ताइयुआन उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से एचवाई-1सी उपग्रह को लॉन्ग मार्च-2सी प्रक्षेपण यान के जरिए छोड़ा गया।

ये भी पढ़ें:- अफगानिस्तान: हवाई हमले में तालिबान की सेवा कर रहे डॉक्टर और जज समेत 10 की मौत

समुद्र के रंग और पानी के तापमान की निगरानी करने में मिलेगी मदद

इस संबंध में वहां के स्टेट एडमिनिस्ट्रेशन ऑफ साइंस, टेक्नोलॉजी एंड इंडस्ट्री फॉर नेशनल डिफेंस का कहना है कि उपग्रह समुद्र के रंग और पानी के तापमान की निगरानी करने में मदद करेगा। इस उपग्रह की मदद से वैश्विक समुद्री पर्यावरण पर शोध करने के लिए बुनियादी जानकारी हासिल करने काफी सफलता मिल सकेगी।

ये भी पढ़ें:- अमरीका की पाकिस्तान सरकार को नसीहत, अल्पसंख्यकों को दें समान अधिकार

उपग्रह से मिलने वाली जानकारी इन क्षेत्रों के लिए जरूरी

मीडिया रिपोर्ट में ये भी कहा जा रहा है कि प्रशासन का मानना है कि उपग्रह से मिलने वाली जानकारी चीन के समुद्री जल, द्वीपों, तटीय इलाकों, समुद्री आपदा राहत और समुद्री संसाधनों के सतत उपयोग के संसाधनों और पर्यावरण के सर्वेक्षण में मददगार साबित होगी।

पांच साल तक काम करेगा ये समुद्री उपग्रह

इस संबंध में मिल रही जानकारी के अनुसार इस उपग्रह का निर्माण चाइना एकेडमी ऑफ स्पेस टेक्नोलॉजी के तहत चाइना स्पेससैट कॉर्पोरेशन ने किया है। उनका दावा है कि ये उपग्रह यह पांच साल तक काम करेगा।

ये भी पढ़ें:- अमरीका ने चार लोगों और पांच कंपनियों पर लगाया बैन, सीरिया की मदद करने का था आरोप

Ad Block is Banned