चीन में मुसलमानों को जबरदस्ती खिलाया जा रहा है वर्जित मांस और शराब, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

Anil Kumar

Publish: May, 18 2018 11:07:27 AM (IST)

Asia
चीन में मुसलमानों को जबरदस्ती खिलाया जा रहा है वर्जित मांस और शराब, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

यूरोपियन स्कूल ऑफ कल्चर ऐंड थियॉलजी इन कोर्नटल के आद्रियान जेंज ने कहा है कि चीन के इन रीएजुकेशन कैंप में कई हजार मुस्लिमों को रखा गया है।

नई दिल्ली। रमजान का पवित्र महीना गुरुवार से शुरु हो गया है लेकिन चीन से एक बहुत ही घिनौना और रोंगटे खड़े कर देने वाला सच सामने आया है। दरअसल चीन में मुसलिमों को शिक्षित करने के नाम पर खोले गए कैंपों के अंदर की सच्चाई का पर्दाफास दुनिया के सामने हुआ है। कैंप में रह रहे एक व्यक्ति ने बताया कि शिक्षित करने के नाम पर कैंप में उन्हें प्रताड़ित किया जाता है और उनका ब्रेनवाश किया जाता है। एक दूसरे शख्स ने बताया है कि इन कैंपों में घटिया गुणवत्ता वाले खाना दिया जाता है और जब अच्छा खाना मांगा जाता है तो जबरन वर्जित मांस और शराब पिलाया जाता है। बता दें कि इस्लाम धर्म में वर्जित मांस और शराब को नापाक बताया गया है। शख्स ने बताया कि करामागे गांव के एक कैंप में ही करीब 5 हजार 700 लोगों को चीन ने बंदी बनाकर रखा है और करीब 200 लोग धार्मिक चरमपंथ को बढ़ावा देने के मामलों में संदिग्ध हैं।

रिपोर्ट में हुआ खुलासा

आपको बता दें कि मंगलवार को जारी एक रिपोर्ट में यूरोपियन स्कूल ऑफ कल्चर ऐंड थियॉलजी इन कोर्नटल के आद्रियान जेंज ने कहा है कि चीन के इन रीएजुकेशन कैंप में कई हजार मुस्लिमों को रखा गया है। रिपोर्ट में बताया गया है कि चीन के शिनजियांग प्रांत में करीब एक करोड़ 10 लाख मुस्लिम हैं और इसकी कुल आबादी 2 करोड़ 10 लाख है। इनमें से एक बड़ी संख्या को हिरासत में ले लिया गया है, जिनमें अधिकतर युवा पुरुष हैं

रमजान के हर रोजे के दिन 60 हजार गुनाहगारों को दोजक से निकालकर जन्नत में डालेगा खुदा... रोजदार को मिलेगी ये नेमतें

कैंपों में पढ़ाई जाती है वामपंथी प्रोपेगेंडा

कैंप से आए एक व्यक्ति ने बताया है कि मुस्लिमों को शिक्षित करने के नाम पर उन कैंपों में वांपपक्षी विचारों को पढ़ाया जाता है। उन्हें बेइज्जत किया जाता है और ब्रेनवॉश की कोशिश के साथ राष्ट्रपति शी जिनपिंग का शुक्रिया अदा करने के लिए कहा जाता है। जो भी व्यक्ति इन नियमों का पालन नहीं करता है उन्हें कड़ी सजा दी जाती है। कैंप में देर से पहुंचने पर हाथ-पैर में 12 घंटों तक बेड़ियां बंधवा दी जाती है।

चीन में मुसलमानों पर है कई पाबंदिया

आपको बता दें कि चीन के शिनजियांग में रह रहे मुस्लिम (उईगुर) समुदाय पर आतंक फैलाने का आरोप चीन हमेंशा से लगाता रहा है और इसी वजह से उनपर कई पाबंदियां लागू करता रहता है। गौरतलब है कि बीते वर्ष सितंबर में ही शिनजियांग प्रांत के अधिकारियों ने उईगुर समुदाय को चेतावनी दी थी कि उन्हें कुरान, नमाज पढ़ने वाली चटाई सहित सभी धार्मिक चीजें सौंपनी होगी वरना वे कड़ी सजा के हकदार होंगे।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned