पाकिस्तान: इमरान ने खुद को बताया 'कश्मीरियों का ब्रांड एम्बेसडर', कहा- राजदूत और वकील के रूप में मुद्दे उठाते रहेंगे

पाक पीएम इमरान खान का यह भाषण 25 जुलाई को पीओके में होने वाले आगामी चुनावों के बीच आया है।

By: Mohit Saxena

Published: 18 Jul 2021, 11:34 PM IST

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान (Imran Khan) ने एक बार से कश्मीर का राग आलापा है। दरअसल, इमरान ने शनिवार को पाक के कब्जे वाले कश्मीर (Pok) में एक चुनावी रैली के दौरान खुद को कश्मीरियों को "ब्रांड एंबेसडर" बताया है। पाक मीडिया रिपोर्ट अनुसार खान ने "कश्मीरियों के ब्रांड एंबेसडर" होने का दावा कर कहा, पाकिस्तान कश्मीरियों के साथ खड़ा है।

ये भी पढ़ें: 17 यूरोपीय देशों ने दी कोविशील्ड को मान्यता, अब भारतीय कर पाएंगे बेरोकटोक यात्रा

कुरान का हवाला देकर पाकिस्तान के पीएम ने कहा कि वह दुनिया भर में कश्मीरियों के मामले को उनके "राजदूत और वकील" के रूप में वे मुद्दे को उठाते रहेंगे। इमरान का यह भाषण 25 जुलाई को पीओके में होने वाले आगामी चुनावों के बीच आया है। बढ़ते कर्ज के साथ आर्थिक रिकॉर्ड को लेकर खान ने अपने भाषण में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के आर्थिक मॉडल और चीन द्वारा अपनाए गए "ह्यूमेनिटी फर्स्ट" दृष्टिकोण की सराहना की।

ये भी पढ़ें: अफगानिस्तान से जाने का इरादा बदल सकता है अमरीका, काबुल पर तालिबानी कब्जे की चिंता जताई

पीएम मोदी और भारत पर इमरान का यह हमला ऐसे समय हुआ है जब अफगानिस्तान में तालिबान की कार्रवाइयों के संबंध पाकिस्तान की भूमिका पर लगातार सवाल उठ रहे हैं और इमरान इससे बच रहे हैं। सीमा पार आतंकवाद को समर्थन देने की चिंताओं के बीच भारत के साथ रुकी हुई वार्ता को लेकर उन्होंने "आरएसएस की विचारधारा" पर आरोप लगाया है। जब मीडिया ने इमरान से पूछा कि क्या बातचीत और आतंक एक साथ चल सकती है। इस पर खान ने कहा कि वे भारत से कहेंगे कि हम लंबे समय से इंतजार कर रहे हैं कि कब एक सभ्य पड़ोसियों की तरह रहें। लेकिन हम क्या कर सकते हैं? आरएसएस की विचारधारा आड़े आ गई है।"

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned