script सरफराज का टेस्ट मैच में चयन होते भावुक हुए पिता, बताए संघर्ष की कहानी | Story of struggle of cricketer Sarfaraz Khan | Patrika News

सरफराज का टेस्ट मैच में चयन होते भावुक हुए पिता, बताए संघर्ष की कहानी

locationआजमगढ़Published: Jan 31, 2024 04:51:47 pm

Submitted by:

Abhishek Singh

सरफराज खान के चयन पर उनके पिता ने भावुक होते हुए कहा कि मैं चाहता हूं कि देश जीते। बच्चे अच्छा खेल रहे और अच्छा ही खेलेंगे। नए बच्चों के लिए मैं कहना चाहता हूं कि वो सीखते हुए खेलें। खेलते हुए सीखने पर समय निकल जायेगा। जीवन में अनुशासन का विशेष महत्व है। यदि आप अनुशासित रहते हुए कार्य करेंगे कोई भी मौसम हो समय से उठें ,समय से सारा कार्य करें तो सफलता मिलना सुनिश्चित है।

cricketer.jpg
cricketer Sarfaraz Khan
सरफराज खान के चयन पर उनके पिता ने भावुक होते हुए कहा कि मैं चाहता हूं कि देश जीते। बच्चे अच्छा खेल रहे और अच्छा ही खेलेंगे। नए बच्चों के लिए मैं कहना चाहता हूं कि वो सीखते हुए खेलें। खेलते हुए सीखने पर समय निकल जायेगा। जीवन में अनुशासन का विशेष महत्व है। यदि आप अनुशासित रहते हुए कार्य करेंगे कोई भी मौसम हो समय से उठें ,समय से सारा कार्य करें तो सफलता मिलना सुनिश्चित है।
आजमगढ़ का लाल चर्चे में

आजमगढ़ के सगड़ी तहसील के बासूपार गांव के लाल सरफराज खान का टैलेंट आखिर कार रंग लाया। भारतीय टेस्ट टीम में लंबे इंतजार और हजारों रन बरसाने के बाद सरफराज खान को मौका मिल गया। केएल राहुल और रवींद्र जडेजा के चोटिल होने के बाद उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट की भारतीय टीम में शामिल किया गया।.
उन्हें पहली बार भारतीय टेस्ट टीम का बुलावा आया है। पिछले 4 सालों में इस युवा बल्लेबाज ने फर्स्ट क्लास में जमकर रन बनाए हैं। इस दौरान उन्हें जहां भी मौका मिला, वहां उन्होंने रन बरसाए। इसके जरिए वह लगातार टीम इंडिया में चुने जाने के लिए दरवाजा खटखटा रहे थे। मगर सिलेक्टर्स उन पर दांव नहीं लगा रहे थे। परंतु आखिर कार में सरफराज को उनकी मेहनत का फल मिला है। उनका चयन इंग्लैंड के खिलाफ हो रहे टेस्ट मैच में सरफराज का चयन हो गया है।
जानिए सरफराज खान का सफर

सरफराज खान का नाम फर्स्ट क्लास क्रिकेट के 45 मैच की 66 पारियों में 69.85 की औसत से 3912 रन हैं। इस दौरान 14 शतक और 11 अर्धशतक उनके बल्ले से आए। नाबाद 301 रन उनका सर्वोच्च स्कोर रहा है। उन्होंने हाल ही इंग्लैंड लॉयंस के खिलाफ दूसरे अनाधिकारिक टेस्ट में 89 गेंद में शतक ठोककर चयनकर्ताओं का फिर से ध्यान खींचा था। उनकी पिछली चार पारियों में 161, 4, 55 और 96 रन के स्कोर रहे हैं। सरफराज ने मुंबई के लिए खेलते हुए फर्स्ट क्लास करियर शुरू किया था, लेकिन वहां मौका नहीं मिलने पर वह उत्तर प्रदेश के लिए खेलने चले गए। वहां बात नहीं बनी तो फिर मुंबई लौटे। यहां पर 2020 के सीजन मेंउन्होंने 928 रन जड़ दिए। इसके बाद कोरोना के चलते जब देश में लॉकडाउन लगा, तो वे खेलने के मौके ढूंढ़ने के लिए देश में कई जगह भटकते रहे।
मुंबई दोबारा आने के बाद सरफराज खान के रन नहीं रुके। 2020 से अभी तक 4 साल में सरफराज खान फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 2652 रन बना चुके हैं। सरफराज ने 2019-20 के रणजी सीजन में छह मैच में 154.66 की औसत से 928 रन बनाए थे। तब 3 शतक और 2 अर्धशतक उन्होंने लगाए थे। 2022 में 9 पारियों में 122.75 की औसत से 982 रन बनाए। सरफराज खान ने इस दौरान 4 शतक और 2 अर्धशतक लगाए। 2022-23 में सरफराज ने 92.66 की औसत से 6 मैच में 556 रन बनाए। इस बार 3 शतक और 1 अर्धशतक उनके नाम रहे।

ट्रेंडिंग वीडियो