ओम प्रकाश ने पूछा सवाल, आजादी के बाद 35 प्रतिशत मुस्लिम था नौकरी में आज एक प्रतिशत भी क्यों नहीं

आखिर कहां किस क्षेत्र में सपा, बसपा और कांग्रेस ने किया मुसलमानों का विकास

जिसकी जितनी भागीदारी उसकी हो उतनी हिस्सेदारी का दिया नारा

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. भागीदारी संकल्प मोर्चा के संयोजक पूर्व कैबिनेट मंत्री एआईएमआईएम चीफ ओवैसी का साथ मिलने के बाद पूरे तेवर में दिखे। उन्होंनेे भाजपा ही नहीं बल्कि सपा, बसपा और कांग्रेस पर भी खुलकर निशाना साधा और पूछा कि जो मुस्लिम आजादी के बाद 35 प्रतिशत नौकरी में थे आज एक प्रतिशत भी क्यों नहीं। इस दौरान उन्होंने यह भी साफ कर दिया कि 2022 में किन मुद्दों को लेकर मोर्चा जनता के बीच जाएगा।

ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि जब देश आजालद हुआ तो उस समय देश का 35 प्रतिशत मुसलमान नौकरी में था। आजादी के 73 साल में सपा, बसपा और कांग्रेस ने इनका इतना विकास किया कि कि अब एक प्रतिशत मुस्लिम भी नौकरी में नहीं है। इस समाज को हमेशा धोखा मिला है। इन्हें वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल किया गया है। यह हक की लड़ाई है। समाज में जिसकी जितनी भागीदारी है उसे उतनी हिस्सेदारी मिलनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि हम लोेग सभी समाज के लीडर एकत्र कर रहे हैं। हमारा मोर्चा निःशुल्क शिक्षा, अनिवार्य शिक्षा के नारे के साथ मैदान में उतरेगा। स्नाकोत्तर तक सभी को निःशुल्क शिक्षा दी जाएगी। हम सरकार बनाकर पांच साल तक बिजली का बिल माफ करेंगे। गांवों में निःशुल्क शिक्षा की व्यवस्था करेंगे। नफरत की भावना को समाप्त कर भाईचारा पैदा करेंगे। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए भागीदारी संकल्प मोर्चा सभी 403 सीटों पर चुनाव लड़ेगा। सीटों के बटवारे के संबंध में उन्होंने कहा कि समय आने पर सभी दलों की बैठक होगी और उसमें निर्णय लिया जाएगा। यह तय है कि 2022 में मोर्चा यूपी में बड़ा परिवर्तन लेकर आएगा।

BY Ran vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned