मजिस्ट्रेटों की देखरेख में संपन्न होगा जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव, कुछ इस तरह की गयी है किलेबंदी

जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में किसी तरह की अनियमितता न हो इसके लिए प्रशासन कमर कसकर मैदान में उतर गया है। मतदान स्थल नेहरूहाल की पूरी तरह से किलेबंदी की जाएगी। गेट से लेकर भीतर मतदान स्थल तक मजिस्ट्रेटों की निगहबानी में चुनाव संपन्न होगा।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आजमगढ़. जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर कब्जे के लिए एक तरफ जहां राजनीतिक दलों ने पूरी ताकत झोंक दी है वहीं प्रशासन भी चुनाव को शांतिपूर्ण व निष्पक्ष कराने की तैयारियों में जुट गया है। पूरी चुनाव प्रक्रिया मजिस्ट्रेटों की देखरेख में संपन्न होगी। यहां तक कि मतदान कक्ष से लेकर गेट तक पर मजिस्ट्रेट तैनात किये जाएंगे।

बता दें कि आजमगढ़ जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव सपा और भाजपा की प्रतिष्ठा से जोड़कर देखा जा रहा है। सपा पिछले 10 सालों से अध्यक्ष की कुर्सी पर काबिज है तो यह अखिलेश यादव का संसदीय क्षेत्र भी है। सपा ने यहां बाहुबली विधायक दुर्गा प्रसाद यादव के पुत्र विजय यादव को प्रत्याशी बनाया है। वहीं भाजपा पहली बार पूरी ताकत के साथ मैदान में उतरी है। पार्टी की यूपी में सरकार है और गृहमंत्री के करीब कारोबारी कन्हैया निषाद के पुत्र संजय निषाद के प्रत्याशी बनाया गया है। यह पहला चुनाव है जब बसपा ने अब तक प्रत्याशी की घोषणा नहीं की है। अन्य दल चुनाव लड़ने की स्थिति में नहीं हैं।

इसे भी पढ़े-

भाजपा के लिए अब तक अबुझ पहेली है जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी, कभी नहीं मिली जीत

जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव का कार्यक्रम जारी हो चुका है। 26 जून को पूर्वांह्न 11 बजे से अपराह्न तीन बजे तक नामाकंन होगा। उसी दिन अपराह्न तीन बजे से कार्य की समाप्ति तक नामाकंन पत्रों की जांच होगी। उम्मीदवारी से नाम वापसी 29 जून को पूर्वांह्न 11 बजे से अपराह्न तीन बजे तक होगा। इसके बाद तीन जुलाई को पूर्वांह्न 11 बजे से अपराह्न तीन बजे तक मतदान एवं उसी दिन अपराह्न तीन बजे से कार्य की समाप्ति तक मतगणना संपन्न कराई जाएगी।

इसे भी पढ़े-

जिला पंचायत अध्यक्ष चुनावः अखिलेश के संसदीय क्षेत्र में धनबल व बाहुबल के बीच सीधा मुकाबला

चुनाव को सकुशल व निष्पक्ष संपन्न कराने के लिए प्रशासन तैयारियों में जुटा हुआ है। जिला निर्वाचन अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव की सभी प्रक्रिया नेहरू हाल में संपन्न होगी। जिसकी तैयारी लगभग पूरी हो गयी है। नामांकन, मतदान एवं मतगणना की कार्रवाई संपन्न कराने के लिए सुरेश चंद जायसवाल बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी (मोबाइल नंबर- 9452225225), अशोक त्रिपाठी चकबंदी अधिकारी (9415286678), साहित्य निकष सिंह जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी( 9335471959), श्रीकांत दर्वे, एडीपीआरओ (9450786907) की ड्यूटी लगाई गई है।

इसे भी पढ़े-

जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव: तीन जुलाई को होगा फैसला, गढ़ बचाएगी सपा या बीजेपी भेदेगी अखिलेश का किला

इन्हें निर्देशित किया गया है कि वे नामांकन से लेकर मतगणना तक की कार्रवाई सकुशल, निष्पक्ष एवं त्रुटिरहित संपन्न कराएंगे। साथ ही नेहरू हाल परिसर के बाहर एडीएम एफआर गुरु प्रसाद गुप्ता ( 9454417592), नेहरू हाल परिसर के पश्चिमी द्वार पर सीआरओ हरीशंकर ( 9454417923), मतदान कक्ष व नेहरू हाल परिसर में एसडीएम सदर वागीश कुमार शुक्ला (9454417925) और नेहरू हाल परिसर के दक्षिणी द्वार पर एसडीएम सगड़ी गौरव कुमार (9454417924) की ड्यूटी मजिस्ट्रेट के रूप में लगाई है। आदेशित किया है कि नामांकन से लेकर मतगणना तक अपने तैनाती स्थल पर उपस्थित रहकर निर्वाचन को सकुशल एवं शांतिपूर्ण ढ़ंग से संपन्न कराएंगे।

BY Ran vijay singh

रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned