एक मां और दो पिता के भंवर में फंसी तीन बच्चों की जिंदगी, वजह जान आप भी रह जाएंगे हैरान

Highlights

- Baghpat जिले के सुन्हैडा गांव का मामला

- दो पिता और एक मां के बीच उलझी तीन बच्चों की जिंदगी

By: lokesh verma

Published: 14 Jun 2020, 09:49 AM IST

बागपत. जिले के सुन्हैडा गांव में रह रहे एक युवक ने अपनी पत्नी पर ही बच्चाें के अपहरण का आरोप लगाया है, जिसके बाद पुलिस ने आरोपी पत्नी व बच्चों को बरामद कर लिया है और उनको बाल न्यायालय भिजवाया गया है। जहां पर फैसला होगा की बच्चे किसके पास रहेगें। वहीं, महिला बच्चों के साथ अपने दूसरे पति के साथ रहना चाहती है। जबकि पहला पति बच्चों पर अपना दावा कर बच्चों को अपने पास रखना चाहता है।

यह भी पढ़ें- यूपी: थाने पहुंची लड़की ने सुनाई हैवान पिता की कहानी, तीन साल से कर रहा था याैन शाेषण

दरअसल, यह कहानी है एक महिला और दो पतियों के बीच फंसे बच्चों की। मुजफफरनगर जिले के लोई की रहने वाली एक महिला प्रवीण की शादी करीब दस वर्ष पूर्व शहजाद निवासी सुन्हैडा बागपत के साथ हुई थी। प्रवीण इस शादी से खुश थी। वह एक कामकाजी महिला थी और अपने परिवार को कैसे आगे बढ़ाना है वह जानती थी। शादी के बाद शहजाद के घर आयी प्रवीण ने शहजाद के काम में भी हाथ बटाया और काम को आगे बढाने लगी। शादी के कुछ सालों तक सब ठीक चलता रहा। इस दौरान वह दो बच्चों सानिया और सावन की मां बन चुकी थी। उनकी पढ़ाई-लिखाई का भी वह ध्यान रखती थी, लेकिन उसकी जिंदगी में उस समय भूचाल आ गया, जब उसका पति शराब की लत में पड़ गया और घर से कई- कई दिन तक गायब रहने लगा।

प्रवीण बताती है कि करीब तीन साल पहले वह घर से अचानक गायब हो गया और वापस नहीं लौटा। इस दौरान उसे भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। शहजाद के परिजनों ने भी उससे किनारा कर लिया। इस दौरान उसकी मुलाकात बिहार के रहने वाले सद्धाम से हुई। सद्धाम ने प्रवीण से शादी की बात की तो प्रवीण ने अपने बच्चों के खातिर शादी के लिए हां कर दी और बच्चों के साथ सद्धाम के साथ रहने लगी। प्रवीण की जिंदगी में एक बार फिर बहार आ गई। इस दौरान प्रवीण को सद्धाम से भी एक बच्चा हुआ।

सद्धाम तीनों बच्चों का ध्यान रखता था, लेकिन ढाई साल बाद उसका पहला पति शहजाद वापस लौट आया और बच्चों पर अपना दावा जताते हुए प्रवीण से बच्चे वापस ले गया। कुछ दिन बाद ही प्रवीण के बड़े बेटे सावन (10) का फोन आया उसने अपने पिता शहजाद पर आरोप लगाते हुए रोना शुरू कर दिया, जिससे आहत प्रवीण ने समय गंवाए बिना चुपचाप बच्चों को अपने पहले पति के घर से लेकर अपने दूसरे पति के पास आ गई। जब इस बात का पता पहले पति शहजाद को लगा तो उसने खेकड़ा कोतवाली में अपनी पत्नी पर अपहरण का आरोप लगाते हुए बच्चों को दिलाने की मांग की है।

पुलिस ने बच्चों को बरामद कर लिया और दोनों पति व पत्नी को बाल न्यायालय में पेश किया। बाल न्यायालय अधिकारी राजीव यादव व कुलदीप त्यागी ने मामले की जानकारी करते हुए जांच शुरू की है। बाल न्यायालय अधिकारी राजीव यादव का कहना है कि महिला प्रवीण से बात की जा रही है और बच्चों से भी पूछताछ की जा रही है। सभी लोगों से बातचीत की जाएगी, जो भी बच्चों के भविष्य के हित में होगा उस पर विचार किया जाएगा।

Show More
lokesh verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned