script पहले दिखाया पुलिस का रौब, बस चालक के साथ की मारपीट, फिर मांगी माफी | First showed police's arrogance, assaulted bus driver, then apologized | Patrika News

पहले दिखाया पुलिस का रौब, बस चालक के साथ की मारपीट, फिर मांगी माफी

locationबालाघाटPublished: Jan 31, 2024 10:04:21 pm

Submitted by:

Bhaneshwar sakure

मारपीट के विरोध में बस चालकों ने किया प्रदर्शन
करीब 1 घंटे तक यात्री बसों के थमे रहे पहिए

31_balaghat_102.jpg

बालाघाट. पहले पुलिस का रौब दिखाया। अपने वाहन से उतरकर बस चालक के साथ मारपीट की। मामले ने तुल पकड़ लिया। बस चालकों ने मारपीट के विरोध में प्रदर्शन शुरु कर दिया। करीब एक घंटा तक यात्री बसों के पहिए थमे रहे। यात्री परेशान होते रहे। कोतवाली पुलिस ने मामले में हस्तक्षेप किया तो कथित पुलिस अधिकारी ने सार्वजनिक रुप से माफी भी मांगी। बाद में आपसी रजामंदी से मामला शांत हो गया। यह वाक्या बुधवार की सुबह नगर मुख्यालय के बस स्टैंड के पास न्यायालय परिसर में हुआ। घटना को दौरान 8 वीं बटालियन छिंदवाड़ा में पदस्थ कंपनी कमांडेंट अनिल राय ने यात्री बस के चालक संदीप साहू के साथ मारपीट कर दी थी।
जानकारी के अनुसार बुधवार की सुबह करीब 9.30 बजे यात्री बस का चालक संदीप साहू बस को स्टैंड में ले जाने के लिए रिवर्स कर रहा था। इसी दौरान वाहन क्रमांक एमपी 09 सीएम 8611 से 8 वीं बटालियन छिंदवाड़ा के कंपनी कमांडेंट अनिल राय बस स्टैंड से मुख्य मार्ग की ओर आ रहे थे। तभी यात्री बस के पीछे के हिस्से से उनकी कार को डेस लग गई। इस घटना से आक्रोशित कंपनी कमांडेंट अनिल राय ने अपने वाहन से उतरकर बस चालक के साथ मारपीट शुरु कर दी। अचानक हुए इस घटना से सभी सकते में आ गए। धीरे-धीरे भीड़ जमा हो गई। चालक के साथ मारपीट करने के बाद कमांडेंट अनिल राय वाहन को मौके पर ही खड़ा कर सीधे कोतवाली पहुंच गए। उन्होंने घटना की जानकारी कोतवाली पुलिस को दी। सूचना मिलने के बाद पुलिस घटना स्थल पर पहुंची। वाहन चालकों से चर्चा की।
बसों को खड़ा कर चालकों ने किया प्रदर्शन
घटना के बाद एक के बाद एक सभी यात्री बसों के चालकों ने बसों का खड़ा कर दिया। बस स्टैंड में ही विरोध प्रदर्शन शुरु कर दिया। जमकर नारेबाजी की। वाहन चालक संघ अध्यक्ष महेश सहारे के नेतृत्व में रैली के रुप में सभी चालक कोतवाली पहुंचे। संबंधित पर एफआइआर दर्ज करने और न्यायोचित कार्रवाई की मांग की। इस प्रदर्शन के दौरान 1 घंटे से अधिक समय तक यात्री बसों के पहिए थमे रहे। अचानक वाहन चालकों के प्रदर्शन से यात्रियों को भी परेशान होना पड़ा। यात्री समय पर अपने गंतव्य स्थल तक नहीं पहुंच पाए।
इस मामले में चालक संदीप साहू का कहना है कि वे सुबह बस को स्टैंड में खड़ी करने के लिए न्यायालय परिसर रोड से उसे रिवर्स कर रहे थे। इसी दौरान संबंधित अधिकारी भी अपने वाहन से पहुंचे। वे गलत दिशा से अपने वाहन को लेकर आ रहे थे। इसी दौरान बस के पिछले हिस्से से उनके वाहन को डेस लग गई। जिसके बाद आक्रोश में आकर उन्होंने मारपीट शुरु कर दी। हालांकि, बाद में कंपनी कमांडेंट ने सार्वजनिक रुप से माफी मांग ली। जिसके बाद उन्होंने अपना प्रदर्शन समाप्त कर दिया।
आपसी रजामंदी से शांत हुआ मामला
घटना के बाद बढ़ते विरोध प्रदर्शन को देखते हुए कोतवाली पुलिस ने हस्तक्षेप किया। बस चालकों से चर्चा कर समझाइश दी। कोतवाली में ही दोनों पक्षों ने सार्वजनिक रुप से एक-दूसरे से चर्चा की। इसी दौरान 8 वीं बटालियन के कंपनी कमांडेंट अनिल राय ने जाने-अनजाने में हुई गलती के लिए सार्वजनिक रुप से माफी मांगी। जिसके बाद वाहन चालकों ने अपना प्रदर्शन समाप्त किया।

ट्रेंडिंग वीडियो