भाजपा विधायक केेे बयान से आहत हुए तहसीलदार, कहा- तोहमत लेकर रिटायर नहीं होना चाहता

अपने बयानबाजी के लिए सुर्खियों में रहे हैं बलिया के बैरिया क्षेत्र से विधायक सुरेंद्र सिंह

By: Mahendra Pratap

Published: 26 Dec 2020, 06:14 PM IST

बलिया. बलिया के बैरिया क्षेत्र से विधायक सुरेंद्र सिंह अपने बयानबाजी के लिए सुर्खियों में रहे हैं। अपनी हरकतों से हमेशा चर्चा में बने रहते हैं। इस बार भी उनकी एक हरकत बैरिया तहसीलदार को बेहद नागवार लगी। विधायक ने गुरुवार सुबह फोन कर उन्हें ‘भ्रष्टाचारी’ कहा। इस बयान से तहसीलदार इतने आहत हुए कि उन्होंने तत्काल डीएम को एक पत्र लिखा, जिसमें कहाकि वह तोहमत लेकर रिटायर नहीं होना चाहते हैं। और मेरी सम्पति की जांच करा ले, अगर दोषी पाया जाता हूं तो उन्हें अनिवार्य सेवानिवृत्ति दे दी जाए।

'खसरा' में यूपी सरकार ने किया नया बदलाव, मिलेगी ढेर सारी सुविधाएं

आहत हुए तहसीलदार :- मामला बलिया जिले के बैरिया विधानसभा सभा क्षेत्र का है। बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह बैरिया तहसीलदार शिव साहर दुबे से काफी समय से किसी मुद्दे को लेकर नाराज हैं। इसी नाराजगी को लेकर गुरुवार सुबह विधायक ने तहसीलदार दुबे को फोन किया और उन्हें ‘भ्रष्टाचारी’ कहा। इस शब्द को तहसीलदार बर्दाश्त नहीं कर पाए और आहत स्थिति में डीएम साहब को एक पत्र लिख सारी कहानी को बता दिया।

अनिवार्य सेवानिवृत्ति दे दी जाए :- तहसीलदार शिव साहर दुबे ने पत्र में लिखा कि, करीब 31 वर्ष सेवाकाल में किसी ने भी उनके साथ ऐसा बर्ताव नहीं किया था। तहसीलदार एक महत्वपूर्ण पद है, जिसमें भ्रष्टाचार करने का मौका है। इसलिए उन्हें ऐसे पद पर तैनाती दे दी जाए, जहां भ्रष्टाचार करने का कोई अवसर ही ना हो। तहसीलदार ने डीएम से अनुरोध किया कि, वह उनकी संपत्ति की जांच करा लें और अगर कहीं से भी लगे कि उन्होंने भ्रष्टाचार किया है तो उन्हें अनिवार्य सेवानिवृत्ति दे दी जाए। उन्हें 2021 में रिटायर होना है, वह तोहमत लेकर सेवानिवृत्त नहीं होना चाहते हैं।

तहसीलदार को समझाया था :- इधर भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह का कहना है कि, बैरिया के तहसीलदार की गलत कारगुजारियों से सरकार की बदनामी हो रही है। समाज में अशांति फैलने की आशंका बढ़ती जा रही है। तहसीलदार ने भरतछपरा गांव में दो माह पहले राजस्व विभाग के भूमि की पैमाइश के बाद गाड़े गए पत्थरों को बिना किसी नोटिस के निकलवा कर फेंक दिया, जिससे इलाके में अशांति की आशंका बढ़ गई है। विधायक ने बताया कि, उन्होंने तहसीलदार को समझाया था, पर उन्होंने दबाव बनाने के लिए डीएम साहेब को पत्र लिख दिया है।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned