कौशल उन्नयन बना आर्थिक उन्नयन योजना, खाली कुर्सियां बता रही सच

कौशल उन्नयन बना आर्थिक उन्नयन योजना, खाली कुर्सियां बता रही सच

Chandra Kishor Deshmukh | Updated: 14 Jun 2019, 08:25:25 AM (IST) Balod, Balod, Chhattisgarh, India

जिले में शासन की महत्वपूर्ण मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना अब रसूखदारों के लिए आर्थिक उन्नयन योजना बन चुकी है। यहां खाली कुर्सियां गिनाकर शासन को चूना लगाया जा रहा है।

बालोद @ patrika. जिले में शासन की महत्वपूर्ण मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना अब रसूखदारों के लिए आर्थिक उन्नयन योजना बन चुकी है। यहां खाली कुर्सियां गिनाकर शासन को चूना लगाया जा रहा है।

केवल तीन बच्चे ले रहे प्रशिक्षण
बालोद शहर राजनांदगांव रोड में संचालित ग्रामीण साक्षरता सेवा संस्थान में भी कुछ ऐसा ही इन दिनों हो रहा है। यहां खाली कुर्सियों को ट्रेनिंग करा शासन से पूरे पैसे लिए जा रहे हैं। आलम यह है कि इस संस्था में केवल 3 बच्चे ही प्रशिक्षण लेते नजर आते हैं।

16 जून तक चलेगा प्रशिक्षण
नगर के ग्रामीण साक्षरता सेवा संस्थान में वर्तमान में असिस्टेंट इलेक्ट्रिशियन का प्रशिक्षण कराया जा रहा है। 20 फरवरी से शुरू प्रशिक्षण 16 जून तक चलेगा। इसके बाद यहां पर परीक्षा होगी। योजना के तहत यहां 20 बच्चों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है और कुर्सियों पर धूल जमी हुई है। मानों सालों से यहां कोई बैठा नहीं है।

रद्द हो ऐसे संस्थानों का भुगतान
लगातार प्रशिक्षण के नाम पर शासन को चूना लगाने का मामला सामने आ रहा है। परंतु अब तक किसी तरह की कोई बड़ी कार्रवाई नहीं हुई है। कार्रवाईनहीं होने से ऐसे संस्थान संचालकों के हौसले बुलंद हैं। ऐसे संस्थानों का भुगतान रोका जाना चाहिए ताकि भविष्य में इस तरह के कृत्य ना किए जा सके।

बच्चों के भविष्य से खिलवाड़
बैच संचालित कर पैसे कमाने के उद्देश्य से बच्चे तो ढूंढ़ते हैं परंतु तय समय पर उन्हें प्रशिक्षण नहीं देते जिसके चलते बच्चों के कॅरियर से खिलवाड़ हो रहा है। सरकार द्वारा प्रति बच्चे प्रति घंटे के हिसाब से भुगतान किया जाता है।

पूर्व में भी कराया है जमकर प्रशिक्षण
यह वहीं संस्थान है जो बालोद में रहते हुए कई सारे प्रशिक्षण कराए हैं उसकी भी जांच होनी चाहिए। वर्तमान में इस संस्थान के नाम पर किसी स्थानीय युवती द्वारा यह बैच संचालित किया जा रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned