सरकार की विफलताओं को मुद्दा बनाएगी भाजपा: अमित शाह

सरकार की विफलताओं को मुद्दा बनाएगी भाजपा: अमित शाह

Yamuna Shankar Soni | Publish: Jan, 01 2018 10:31:00 PM (IST) | Updated: Jan, 01 2018 10:31:01 PM (IST) Bangalore, Karnataka, India

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने 14 जनवरी से पहले सिद्धरामय्या सरकार की विधानसभा क्षेत्रवार विफलताओं के आरोप पत्र तैयार कर जन-जन तक पहुंचाने के

बेंगलूरु. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने 14 जनवरी से पहले सिद्धरामय्या सरकार की विधानसभा क्षेत्रवार विफलताओं के आरोप पत्र तैयार कर जन-जन तक पहुंचाने के निर्देश दिए हैं। अमित शाह ने रविवार को यलहंका स्थित एक रिजॉर्ट में अगले विधानसभा चुनाव की रणनीति के संबंध में प्रदेश के प्रमुख नेताओं की विशेेष संवाद बैठक में भाग लिया और प्रदेश के राजनीतिक परिदृश्य की समीक्षा की।

शाह के साथ करीब तीन घंटे तक चली विशेेष बैठक के उपरांत केंद्रीय रसायन व उर्वरक मंत्री अनंत कुमार ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि शाह ने 14 जनवरी के भीतर प्रदेश की सभी 224 विधानसभा क्षेेत्रों में सरकार द्वारा घोषित कार्यक्रमों को लागू करने की विफलता के बारे में आरोप पत्र तैयार करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि 15 से 22 फरवरी तक प्रदेश के सभी 224 विधानसभा क्षेत्र में भाजपा युवा मोर्चा द्वारा राज्यव्यापी व्यापक जनजागृति यात्राओं कगा आयोजन किया जाएगा। इस दौरान सरकार के खिलाफ तैयार किए गए आरोप-पत्रों को उस विधानसभा क्षेत्र के प्रत्येक गांव व घर तक पहुंचाने का कार्य किया जाएगा।


उन्होंने कहा कि बैठक में फरवरी माह के अंत तक हरेक विधानसभा क्षेत्र के प्रत्येक बूथ की मतदाता सूचियों के हरेक पन्ने के लिए एक पेज प्रमुख की नियुक्त की जाएगी जो उस बूथ के 20 से लेकर 30 मतदाताओं के साथ निरंतर संपर्क में रहेगा। उन्होंने कहा कि निचले स्तर पर पार्टी की ताकत को और बढ़ाने के मकसद से हरेक बूथ स्तर पर 21 नए सदस्यों के पंजीकरण का अभियान चलाने का निर्णय किया गया है।


उन्होंने बताया कि बैठक में 28 फरवरी तक प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र स्तर पर ओबीसी, दलित व महिला सम्मेलन आयोजित करने का निर्णय किया गया है। उन्होंने कहा कि पार्टी ने अगले दो माह के लिए बूथ स्तर,मतदाता सूची सुदृढिक़रण, जन जागृति अभियान,महिला, दलित तथा ओबीसी सम्मेलन आयोजित करने की कार्ययोजना तैयार की है।


उन्होंने कहा कि तीन घंटे तक चली इस विशेष बैठक में एक राजनीतिक प्रस्ताव पारित किया गया है। जिसमें कहा गया है कि सिद्धरामय्या के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार प्रदेश की दुर्दशा का कारण है। कांग्रेस के कुशासन के कारण राज्य में भ्र्रष्टाचार का बोलबाला है। कानून-व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गई है और बहुसंख्यकों के खिलाफ नीति निर्णय करने वाली सिद्धरामय्या की सरकार एक हिंदू विरोधी सरकार है जो लगातार सांप्रदायिक सद्भाव को चोट पहुंचा रही है।


प्रस्ताव में कहा गया है कि 2.50 लाख करोड़ रुपए का कर्ज लेकर सिद्धरामय्या की सरकार ने प्रदेश की वित्तीय स्थिति को दिवालियापन के कगार पर पहुंचा दिया है। सरकार की किसान विरोधी नीतियों के कारण पिछले चार सालों के दौरान 2400 से अधिक किसान आत्महत्याएं करने पर विशेष हुए हैं और प्रदेश की कृषक वर्ग संकट के दौर से गुजर रहा है।

उन्होंने कहा इस सरकार के कार्यकाल में सडक़, पेयजल, तालाबों में से गाद निकालने सहित तमाम विकास कार्य ठप पड़े हैं। लिहाजा ऐसी नाकारा व भ्रष्ट सरकार को हटाकर येड्डियूरप्पा के नेतृत्व में दो तिहाई बहुमत के साथ भाजपा को सत्ता में लाने के लिए दिन रात परिश्रम करने का निर्णय किया गया है।

उन्होंने कहा कि फिलहाल देश के 19 राज्यों में भाजपा व राजग की सरकारें सत्ता में है और अमित शाह ने अब त्रिपुरा, मेघालय तथा कर्नाटक में पार्टी को सत्ता में लाने की रणनीति तैयार की है। उन्होंने कहा कि तीन घंंटे तक चली बैठक के दौरान अमित शाह के साथ हुए संवाद व मार्गदर्शन से पार्टी नेताओं को नई शक्ति व उत्साह मिला है। उन्होंने विस्वास व्यक्त किया कि अमित साह की निचले स्तर पर पार्टी को मजबूत करने की इस रणनीति से राज्य में भाजपा अभूतपूर्र्व जीत दर्ज करेगी।

रजनीकांत के राजनीति में आने का स्वागत
मशहूर फिल्म अभिनेता रजनीकांत के राजनीति में प्रवेश करने का भाजपा नेताओं ने स्वागत किया है। रविवार को अमित शाह के साथ बैठक में भाग लेने से पहले पार्टी नेताओं ने कहा कि रजनीकांत के राजनीति में स्वागत है और हम उन्हें शुभकामनाएं देते हैं। विधानसभा में विपक्ष के नेता जगदीश शेट्टर, केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा, पूर्व उपमुख्यमंत्री आर अशोक, प्रदेश महासचिव सीटी रवि, सांसद शोभा करंदलाजे, केन्द्रीय मंत्री रमेश जिगजिणगी, सांसद प्रहलाद जोशी, बी श्रीरामुल, तारा अनुराधा आदि ने घोषणा का स्वागत किया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned