गर्मी के साथ बढ़ी बिजली की खपत, प्रतिदिन की मांग 228 मिलियन यूनिट

गर्मी के साथ बढ़ी बिजली की खपत, प्रतिदिन की मांग 228 मिलियन यूनिट

Shankar Sharma | Publish: May, 17 2019 11:00:15 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

गर्मी कारण राज्य में बिजली की मांग में लगातार वृद्धि को गंभीरता से लेते हुए राज्य सरकार ने बिजली कटौती के संकेत दिए हैं।

बेंगलूरु. गर्मी कारण राज्य में बिजली की मांग में लगातार वृद्धि को गंभीरता से लेते हुए राज्य सरकार ने बिजली कटौती के संकेत दिए हैं। प्रशासनिक सूत्रों के मुताबिक गत वर्ष इसी समयावधि के दौरान बिजली की मांग 177 मिलियन यूनिट थी, जो आज 228 मिलियन यूनिट तक पहुंच गई है।

इस बीच कोयले की आपूर्ति के अभाव में रायचूर, बल्लारी तथा यरमरस ताप ऊर्जा संयंत्रों की कई इकाइयां ठप होने से बिजली उत्पादन में भारी गिरावट हुई हैै। इस कारण से आनेवाले दिनों में बिजली आपूर्ति में कटौती करना अनिवार्य होगा। बिजली की मांग तथा उत्पादन के बीच 30 से 40 लाख मिलियन यूनिट का अंतर है। इसलिए मांग के अनुपात में आपूर्ति संभव नहीं हो रहा है।


मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने ऊर्जा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर पेयजल आपूर्ति तथा सिंचाई के लिए न्यूनतम बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। आवश्यकता होने पर पड़ोसी राज्यों से बिजली खरीदने को कहा गया है। लोड शेडिंग को लेकर बिजली आपूर्ति कंपनियों की ओर से कोई अधिकृत सूचना जारी नहीं की गई है, लेकिन राज्य के कई जिलों में घंटों तक बिजली गुल रहती है। इसे अघोषित बिजली कटौती कहा जा रहा है। कर्नाटक ऊर्जा निगम (केपीसी) के अनुसार गर्मी के दिनों में अधिक पनबिजली उत्पादन संभव नहीं है।

वर्षाजनित समस्याओं से निपटने बेसकॉम ने तैयार की १२ हजार कर्मियों की ‘फौज’
बेंगलूरु. शहर में बारिश के दौरान पेड़ की टहनियां ट्रांसफार्मर पर गिरने से बिजली आपूर्ति में बाधा, कई जगह पर बिजली के तारों का गिरना, तेज हवा से खंभे झुकने जैसी समस्याओं से निपटने को बेंगलूरु बिजली वितरण कंपनी (बेसकॉम) ने बेंगलूरु शहर, बेंगलूरु ग्रामीण, तुमकूरु, चिकबल्लापुर, कोलार तथा चित्रदुर्ग जिलों की व्याप्ति में 12 हजार से अधिक कर्मचारियों की ‘फौज’ तैयार की है।

बेसकॉम के महाप्रबंधक बी. कृष्णमूर्ति (उपभोक्ता संपर्क विभाग) के मुताबिक उपभोक्ताओं के लिए समस्या संबंधी शिकायतें दर्ज करने के लिए शीघ्र ही दो मोबाइल ‘एप’ जारी किए जा रहे हैं। इसके अलावा बिजली उपभोक्ताओं को याद करने में आसान फोन नंबर आवंटन के लिए बेसकॉम ने भारतीय दूरसंचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) के साथ संपर्क किया है। यह हेल्पलाइन टोल फ्री होगी। ऐसी शिकायतों के दर्ज करने के लिए बेसकॉम के नियंत्रण कक्ष में 40 कर्मचारी 24 घंटे तैनात रहेंगे। बीबीएमपी के साथ समन्वय के लिए दो नोडल अधिकारी तैनात किए गए हैं।

12 मई तक बेसकॉम की ओर से बेंगलूरु शहर, बेंगलूरु ग्रामीण तथा चित्रदुर्ग जिलों की व्याप्ति में बिजली की तारों के आस-पास की पेड़ों का टहनियां काटने की 20 हजार 457, खंभों की मरम्मत की 1 हजार 752, ट्रांसफार्मर का नविनीकरण के 1 हजार 684 शिकायतों का समाधान किया गया है। ऐसी समस्याओं से निपटने के लिए बेंगलूरु शहर में 8 हजार 606 , बेंगलूरु ग्रामीण जिले के 3,722 चित्रदुर्गा में 384 कर्मचारियों को मिलाकर कुल 12 हजार 612 कर्मचारी तैनात किए गए हैं।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned