कश्मीर के हजारों मंदिरों में फिर होगी पूजा-अर्चना

कश्मीर के हजारों मंदिरों में फिर होगी पूजा-अर्चना

Santosh Kumar Pandey | Publish: Sep, 23 2019 09:07:03 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

prayers will start again in thousands of temples of Kashmir, केंद्र सरकार ने 1990 के दशक के बाद से जम्मू कश्मीर में जितने भी स्कूल और मंदिर बंद हुए हैं उनका सर्वेक्षण कराने का आदेश दिया है।

बेंगलूरु. जम्मू-कश्मीर में सामान्य हो रहे हालात के बीच केन्द्र सरकार वहां पर कई वर्षों से बंद पड़े मंदिरों को फिर से खोलेगी। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने सोमवार को कहा कि केंद्र सरकार ने 1990 के दशक के बाद से जम्मू कश्मीर में जितने भी स्कूल और मंदिर बंद हुए हैं उनका सर्वेक्षण कराने का आदेश दिया है। इसके लिए एक समिति गठित की गई है। रिपोर्ट के अनुरूप बंद पड़े स्कूलों को दोबारा खोलने का निर्णय किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि घाटी में पिछले तीन दशकों के दौरान करीब 50 हजार मंदिरों के बंद होने का दावा करते हुए रेड्डी ने कहा कि ऐसे सभी मंदिरों का पूरा ब्यौरा तैयार किया जा रहा है। जम्मू कश्मीर में आतंकवाद के पांव पसारने के बाद न सिर्फ वहां से कश्मीरी पंडितों का पलायन हुआ बल्कि मंदिरों को भी निशाना बनाया गया। उन्होंने कहा कि इनमें से कुछ मंदिर नष्ट हो गए हैं और कई मंदिरों में मूर्तियां टूटी हुई हैं। ऐसे सभी मंदिरों का सर्वेक्षण कराकर उन्हें फिर से खोलने की योजना है।

अब घाटी बड़े बदलाव के लिए तैयार

रेड्डी ने कहा कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद अब घाटी बड़े बदलाव के लिए तैयार है। जम्मू कश्मीर का युवा वर्ग अब अपने सुनहरे भविष्य को साकार करने के लिए तैयार हैं। घाटी के जिन युवाओं के हाथों में पत्थर होते थे, वे हाथों में अब लैपटॉप थमाएंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned