संघ के कारण कटा विजयेंद्र का टिकट!

बादामी : सिद्धू के खिलाफ भाजपा का उम्मीदवार तय नहीं

बेंगलूरु. राजनीतिक हलकों में चर्चा है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के दवाब के कारण प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बी एस येड्डियूरप्पा के छोटे बेटे विजयेंद्र का टिकट कर्नाटक विधानसभा चुनाव में कटा है। बताया जाता है कि विजयेंद्र का नाम आने के बाद वरुणा में भाजपा के पक्ष में माहौल बनने के कारण येड्डियूरप्पा बेटे को टिकट देने के लिए अड़ गए लेकिन संघ ने यह कहते हुए विरोध किया कि सबकुछ एक ही परिवार को दिए जाने से पार्टी के समर्पित कार्यकर्ताओं में गलत संदेश जाएगा। संघ के विरोध के कारण ही पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने पिछले सप्ताह वरिष्ठ नेताओं की बैठक में विजयेंद्र को टिकट मिलने पर संदेह जताया था और विजयेंद्र को नामांकन दाखिल करने के लिए इंतजार करने को कहा था। मंगलवार को ज्यादा शुभ नहीं माने जाने के कारण विजयेंद्र ने सोमवार को नामांकन भरने की तैयारी कर ली थी और नंजनगुड़ में चुनाव अधिकारी के कार्यालय भी पहुंच गए। बेटे के नामांकन में मौजूद रहने के लिए येड्डियूरप्पा भी हेलीकॉप्टर से नंजनगुड पहुंचे लेकिन हेलीकॉप्टर से उतरते ही उनके मोबाइल पर आए एक फोन से सबकुछ बदल दिया। बताया जाता है कि यह कॉल भाजपा के राष्ट्रीय संगठन मंत्री रामलाल का था। पार्टी सूत्रों के मुताबिक रामलाल ने येड्डियूरप्पा से कहा कि विजयेंद्र अभी नामांकन नहीं भरें क्योंकि उम्मीदवार की घोषणा होने से पहले नामांकन पत्र दाखिल करने से गलत संकेत जाएगा। साथ ही रामलाल ने यह बात भी कही कि पार्टी यहां से किसी स्थानीय उम्मीदवार को उतारने पर विचार कर रही है। इसके कुछ ही देर बाद पार्टी ने सात उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी लेकिन इसमें वरुणा और बादामी क्षेत्र का जिक्र नहीं था।

vijyendra

रेवण्णसिद्धय्या हो सकते हैं प्रत्याशी
भाजपा के गलियारों में चर्चा है कि यतींद्र के खिलाफ दो दिन पहले ही कांग्रेस छोडऩे वाले पूर्व पुलिस महानिदेशक एल रेवण्णसिद्धरय्या को उतारा जा सकता है। संघ रेवण्णसिद्धय्या को इस क्षेत्र से सिद्धरामय्या के बेटे के खिलाफ मजबूत उम्मीदवार मान रहा है और संगठन मंत्री बी एस संतोष भी उनके नाम पर सहमत बताए जाते हैं। संतोष येड्डियूरप्पा विरोधी खेमे के नेता माने जाते हैं। इसके कारण राजनीतिक हलकों में चर्चा है कि येड्डियूरप्पा विरोधियों ने एकजुट होकर विजयेंद्र को टिकट देने के खिलाफ आलाकमानी पर दबाव डाला और परिवारवाद के बहाने टिकट कटावा दिया। इस बार पार्टी चार नेताओं के संतानों को टिकट दे चुकी है।

siddu

अंतिम क्षणों में श्रीामुलू पर दांव लगा सकती है पार्टी
मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या के खिलाफ बागलकोट जिले की बादामी सीट से उम्मीदवार को लेकर भाजपा अभी निर्णय नहीं कर पाई है। मंगलवार को नामांकन पत्र दाखिल करने का अंतिम दिन है लेकिन बादामी से सिद्धरामय्या के खिलाफ उम्मीदवार को लेकर भाजपा में असमंजस की स्थिति बनी हुई है। पार्टी ने सात उम्मीदवारों की चौथी सूची सोमवार को जारी कर दी लेकिन इसमें बादामी और वरुणा सहित ४ सीटें शामिल नहीं हैं। राजनीतिक हलकों में चर्चा है कि भाजपा ने सिद्धरामय्या के खिलाफ श्रीरामुलू को उतारने का फैसला किया है। बताया जाता है कि श्रीरामुलू मंगलवार दोपहर बागलकोट पहुंचेंगे और नामांकन पत्र भरेंगे। इससे पहले रोड शो का भी आयोजन किया जाएगा।

BJP
कुमार जीवेन्द्र झा Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned