8 फीट लंबे अजगर ने किया शिकार, देखते ही देखते समूचे हरिण को निगल गया

बारां जिले के भंवरगढ़ में संरक्षण से सुरक्षित महसूस कर रहे हैं वन्यजीव, लालापुरा प्लांटेशन में बढऩे लगा वन्यजीवों का कुनबा

By: mukesh gour

Published: 15 Sep 2021, 11:44 PM IST

भंवरगढ़. क्षेत्र के लालापुरा प्लांटेशन में वन्यजीवों की दस्तक से वन कर्मियों में हर्ष व्याप्त है। भंवरगढ़ कस्बे से 4 किमी आगे राष्ट्रीय राजमार्ग के सहारे स्थित लालापुरा प्लांटेशन का निर्माण 4 वर्ष पहले एनटीपीसी के सहयोग से करवाया गया है। क्षेत्र में वन्य जीव बसेरा करने लगे हैं। इसका जीता जागता उदाहरण मंगलवार शाम को प्लांटेशन के अंदर देखा गया। यहां एक अजगर ने हिरन का शिकार किया। इसको वहां तैनात कर्मचारियों ने कैमरे में कैद किया। यहां इन दिनों अच्छी बरसात होने के बाद हरियाली परवान पर है। वन्यजीवों की दस्तक ने इसमें चार चांद लगा दिए हैं। वनपाल परुषोत्तम शर्मा ने बताया कि मंगलवार शाम को यहां प्लांटेशन के अंदर गश्त के दौरान 8 फुट के अजगर को हिरण का शिकार करते देख वनकर्मी दंग रह गए। घटना की सूचना अधिकारियों को भेजी गई। क्षेत्रीय वन अधिकारी भूपेंद्र सिंह हाड़ा ने बताया कि यहां प्लांटेशन के अंदर 8 फुट के अजगर द्वारा हिरण का शिकार किया गया। सूचना मिलने के बाद उप वन संरक्षक वी चेतन कुमार सहायक वन संरक्षक दीपक कुमार गुप्ता ने सभी वन कर्मियों को वन्य जीव से दूरी बनाकर निगरानी की हिदायत दी। यहां पर्याप्त मात्रा में पानी की आवक होने से वन्यजीवों का बसेरा है। यहां नीलगाय, हिरण, चिंकारा, अजगर, जंगली ***** सहित कई वन्यजीव हैं। यहां वे खुद को सुरक्षित महसूस करने लगे हैं। यह वन विभाग के लिए भी राहत पहुंचाने वाली खबर है।

लालापुरा प्लांटेशन के अंदर वन्यजीवों का कुनबा बढऩा वन विभाग के लिए खुशी की खबर है। उच्च अधिकारी से प्राप्त गाइडलाइन के अनुसार इनके संरक्षण के प्रयास किए जा रहे हैं।
भूपेंद्र सिंह हाड़ा, क्षेत्रीय वन अधिकारी, किशनगंज

इधर, गांव में घुसा 8 फीट लंबा मगरमच्छ
गऊघाट. बलदेवपुरा में बुधवार को परवन नदी से निकल कर 8 फीट लंबा मगरमच्छ गांव में घुस आया। इसकी सूचना वनविभाग को दी गई। यहां से वनकर्मियों ने मगरमच्छ का रेस्क्यू किया। प्राप्त जानकारी अनुसार बुधवार सुबह 11 बजे परवन नदी से निकलकर मगरमच्छ राजकीय प्राथमिक विद्यालय परिसर में घुस गया। वन विभाग को सूचना मिलने के बाद कर्मचारियों ने मगर को रस्सियों से बांधकर ट्रैक्टर-ट्रॉली में डालकर कटावर में नर्सरी के पास परवन नदी में छोड़ दिया गया।

Show More
mukesh gour
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned