omg .ऐसा क्या हुआ कि उसने मौत को गले लगा लिया

omg .ऐसा क्या हुआ कि उसने मौत को गले लगा लिया

Shivbhan Sharan Singh | Publish: Nov, 14 2017 06:03:50 PM (IST) Baran, Rajasthan, India

गांव वालों की धमकियों से परेशान होकर युवक ने मौत को गले लगा लिया। कुछ युवक मरने से पहले इस युवक को धमकियां दे रहे थे।

सागोड़ा गांव निवासी युवक श्यामलाल बैरवा ने गांव के ही कुछ लोगों की धमकियों से परेशान होकर विषाक्त खा लिया था। इसके बाद रविवार रात श्यामलाल की कोटा में उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। सोमवार दोपहर करीब दो बजे कोटा में पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव संभलाया तथा शाम करीब चार बजे मृतक के बड़े भाई पप्पू बैरवा ने कवाई थाने पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराई। इसके बाद शव गांव पहुंचा तो परिजनों ने धमकाने के आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं होने तक शव का अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया था।

शव रखकर विरोध प्रदर्शन

Read more:यहां चोरी करना मजबूरी है.

(बारां). कवाई थाना क्षेत्र के सागोड़ा गांव निवासी युवक श्यामलाल बैरवा द्वारा धमकियों से परेशान होकर जान देने के मामले में दूसरे दिन सोमवार को नया मोड़ आ गया। कोटा से पोस्टमार्टम के बाद सोमवार दोपहर बाद शव गांव पहुंचने पर परिजनों व समाज के लोगों ने शव का अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया तथा आरोपित के घर के बाहर शव रखकर विरोध प्रदर्शन किया। शाम करीब पांच बजे पुलिस को इसकी जानकारी मिली तो अटरू पुलिस उपाधीक्षक रणविजय सिंह , कवाई थाना प्रभारी दलबीर सिंह फौजदार व दीलोद ग्राम पंचायत सरपंच गांव पहुंचे। समझाइश के बाद परिजनों ने शव उठाया तथा रात हो जाने के कारण मंगलवार सुबह शांतिपूर्ण अंतिम संस्कार करने की सहमति व्यक्त की। इस दौरान करीब एक घंटे तक शव आरोपित के घर के सामने रखा रहा। गांव में एहतियात के तौर पर पुलिस बल तैनात किया गया है।

 

सागोड़ा गांव निवासी युवक श्यामलाल बैरवा ने गांव के ही कुछ लोगों की धमकियों से परेशान होकर विषाक्त खा लिया था। इसके बाद रविवार रात श्यामलाल की कोटा में उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। सोमवार दोपहर करीब दो बजे कोटा में पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव संभलाया तथा शाम करीब चार बजे मृतक के बड़े भाई पप्पू बैरवा ने कवाई थाने पहुंचकर रिपोर्ट दर्ज कराई। इसके बाद शव गांव पहुंचा तो परिजनों ने धमकाने के आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं होने तक शव का अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned