scriptAssembly Election 2023: Rajasthan: Barmer: | Assembly Election 2023: Rajasthan: Barmer: पहले लड़े आमने-सामने, हारे-जीते अब एक-दूसरे को जीताने को मिलाया हाथ | Patrika News

Assembly Election 2023: Rajasthan: Barmer: पहले लड़े आमने-सामने, हारे-जीते अब एक-दूसरे को जीताने को मिलाया हाथ

locationबाड़मेरPublished: Nov 18, 2023 12:35:53 am

Submitted by:

Dilip dave

Assembly Election 2023: Rajasthan: Barmer:

barmer_congress.jpg
यह भी पढ़ें: सिणधरी में आयोजित कार्यक्रम में मंच पर मानवेन्द्र, सोनाराम व हेमाराम चौधरी।


Assembly Election 2023: Rajasthan: Barmer: कहा जाता है कि राजनीति में कोई आपका स्थानीय विरोधी नहीं होता। कभी जो आपके दोस्त होते हैं वे विरोधी हो जाते हैं और जो विरोधी होते हैं, वे मित्र बन जाते हैं। सीमावर्ती बाड़मेर जिले की राजनीति में कुछ ऐसा ही नजारा दिखा जब कभी एक-दूसरे के सामने चुनाव लड़कर एक-एक बार हार-जीत का स्वाद चख चुके दो नेता अब एक ही पार्टी में है और एक-दूसरे के लिए वोट मांग रहे हैं। यह मामला है सिवाना से कांग्रेस के उम्मीदवार मानवेन्द्रसिंह व गुड़ामालानी के कांग्रेसी उम्मीदवार कर्नल सोनाराम चौधरी का। मानवेन्द्रसिंह पूर्व वित्त, विदेश और रक्षामंत्री जसवंतसिंह के पुत्र है। वे कर्नल सोनाराम के सामने चुनाव लड़े और पहले चुनाव में हार गए। इसके बाद दूसरी बार उन्होंने कर्नल सोनाराम चौधरी को हराया।

यह भी पढ़ें

बाड़मेर में आज बीजेपी के दो स्टार प्रचारक, कहां करेंगे सभाएं पढि़ए पूरा समाचार

जसवंत को हरा चुके कर्नल- 2014 के लोकसभा चुनाव में जसवंतसिंह ने भाजपा से टिकट मांगा, लेकिन पार्टी ने कांग्रेस से आए कर्नल सोनाराम को उम्मीदवार बनाया। कर्नल सोनाराम ने जसवंतसिंह को हराया और सांसद बने।

यह भी पढ़ें

पद स्वीकृत नहीं होने का दंश भोग रहे 5286 स्कूल, काउंसलिंग में भी व्याख्याता

अब दोनों एक ही पार्टी में- अब मानवेन्द्रसिंह व कर्नल सोनाराम चौधरी दोनों एक ही पार्टी से हैं, वे अब अपनी जीत के लिए ही नहीं एक-दूसरे की जीत के लिए एक मंच पर आकर जनता से वोट मांग रहे हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो