कांग्रेस की संकल्प रैली: अशोक गहलोत बोले, मुख्यमंत्री का झूठ बताने पचपदरा लाया हूं

कांग्रेस की संकल्प रैली: अशोक गहलोत बोले, मुख्यमंत्री का झूठ बताने पचपदरा लाया हूं

kamlesh sharma | Publish: Sep, 05 2018 07:12:07 PM (IST) | Updated: Sep, 05 2018 07:16:43 PM (IST) Barmer, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

पचपदरा(बाड़मेर)। रिफाइनरी के श्रेय को लेकर कांग्रेस-भाजपा में लगी होड़ थमने का नाम नहीं ले रही है। तीन दिन पहले मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने पचपदरा में सभा में कांग्रेस को घेरते हुए कहा था कि कांग्रेस ने सोनिया गांधी को बुलाकर केवल पत्थर लगाया रिफाइनरी का कार्य भाजपा ने शुरू किया है और यहां पांच सौ करोड़ के कार्य हो रहे है, बुधवार को कांग्रेस की संकल्प रैली में पचपदरा में ही बोलते हुए पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कांग्रेस की संभाग रैली के लिए पचपदरा को इसलिए चुना गया कि मुख्यमंत्री का सबसे बड़ा झूठ सब देख सके। यहां केवल दीवार बनी है, रिफाइनरी कहीं नजर नहीं आ रही है। दीवार भी चुनावी साल में बनी है। चार साल तक रिफाइनरी के काम को नहीं रोका होता तो आज इस इलाके की तस्वीर अलग ही होती।

गहलोत ने कहा कि मुख्यमंत्री झूठ का पुलिंदा है, वे कहती है कि रिफाइनरी में 40 हजार करोड़ का घाटे का एमओयू किया तो फिर उनको जेल क्यों नहीं भेजती। मुख्यमंत्री ने पूरे मारवाड़ की सभा में झूठ बोलने के अलावा कुछ नहीं किया। वो कहती है कि 50 साल में कांग्रेस ने कुछ नहीं किया, हमने पांच साल कर दिया। पिछले 28 साल में 18 साल तो प्रदेश में भाजपा का शासन रहा है, फिर अपने कार्यकाल के बारे में क्या कहेगी? गहलोत ने कि वसुंधरा राजे की नींद तो आज उड़ जाएगी जब इतनी भारी संख्या में लोगों के आने की जानकारी मिलेगी।

कांग्रेस संकल्प रैली 2018 : मारवाड़ में हुई कांग्रेस की रैली में दिखा जनता का उत्साह, गहलोत-पायलट समेत रहे कई नेता मौजूद, देखें तस्वीरें

उन्होंने कहा कि हाकिम बदलते ही यहां भेदभाव से हुकुम बदल जाते है। सरकार की अच्छी योजनाओं को बंद कर जरूरतमंदों को वंचित किया गया है। भैरोसिंह शेखावत मुख्यमंत्री थे और इसके बाद कांग्रेस सरकार आई तो हमने ऐसा नहीं किया।

गहलोत ने प्रधानमंत्री को घेरते हुए कहा कि लोगों को ऐसे लगा था कि ये आदमी आकाश से तारे तोडक़र ले आएगा लेकिन अब सवाल पूछता हूं कि 15 लाख रुपए खातों में जमा होने थे, उसका क्या हुआ? नोटबंदी से कालाधन सामने लाने वाले थे, कहां गया कालाधन? अच्छे दिन का लोग कब तक इंतजार करेंगे?

यह कैसा लोकतंत्र, जहां नारे लगाने पर पाबंदी है: पायलट
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि यह कैसा लोकतंत्र है,जहां लोगों के नारे लगाने पर पाबंदी है। विरोध करने वालों को गिरफ्तार किया जाता है। घरों में पुलिस नोटिस पहुंचाती है कि विरोध हुआ तो आप जिम्मेदार होंगे। काला कपड़ा पहनकर कोई सभा में नहीं आ सकता। भाजपा ने तो अपनों को नहीं बख्शा, उनकी पगड़ी उछाली है। जिनकी पगडिय़ा उछाली है वो सब अब जवाब देंगे।

उन्होंने कहा कि मारवाड़ में भाजपा की एक सीट नहीं आएगी और प्रदेश ने अब तय कर लिया है कि भाजपा का कुशासन खत्म करेगी। मुख्यमंत्री की नींद ही नहीं अब कुर्सी भी जाने वाली है।

कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अविनाश पाण्डे ने कहा कि कांग्रेस के कार्यकर्ता एकजुटता के साथ तैयार हो जाए। भाजपा के प्रति लोगों में गुस्सा है और चुनाव में इसका परिणाम भाजपा भुगतेगी। सभा को नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी, नमोनारायण मीणा, पूर्व केन्द्रीय मंत्री सीपी जोशी, एआईसीसी सहप्रभारी विवेक बंसल, कांग्रेस सचिव हरीश चौधरी,बीडी कल्ला सहित भाजपा के कई नेताओं संबोधित किया।

सचिन बोलते रहे, लोग कहते रहे गहलोत जिंदाबाद
गहलोत का संबोधन खत्म होते ही कुछ लोग रवाना हो गए तो अधिकांश लोग खड़े हो गए और फिर गहलोत जिंदाबाद के नारे गूंजने लगे। सचिन का भाषण लोगों ने खड़े-खड़े सुना और अशोक गहलोत जिंदाबाद के नारों से पांडाल गूंजता रहा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned