Dark since two months : महिलाओं का घर से निकलना मुश्किल

दो माह से इस नगर पालिका क्षेत्र में स्ट्रीट लाइटें बंद, सार्वजनिक प्रकाश व्यवस्था चौपट हो गई है, जिसके कारण कई मौहल्लों व आम रास्तों में अंधेरा छाया हुआ और कस्बेवासी मजबूर है

By: Gourishankar Jodha

Updated: 22 Sep 2020, 10:36 PM IST

पावटा। कस्बे को नगर पालिका का दर्जा तो मिल गया, लेकिन मूल भूत सुविधाएं मिलना शुरू नहीं होने से कस्बे में कई समस्याएं बढ़ गई है, जिनका खामियाजा आम जन भुगत रहा है। महिलाओं का तो रात के समय घर से निकलना मुश्किल हो गया है।
पावटा कस्बे में सार्वजनिक प्रकाश व्यवस्था 2 माह से चौपट हो गई है, जिसके कारण कई मौहल्लों व आम रास्तों में अंधेरा छाया हुआ है। कस्बे के पटेलो के मौहल्ले में किले वाले रोड सहित कई स्थानों पर गत २ महिना से खम्बों पर लगी लाइटे नहीं जलने के कारण अंधेरा छाया हुआ है।

महिलाओं को घर से निकलना मुश्किल
कस्बे वासी व पावटा नगर भाजपा युवा मोर्चा अध्यक्ष वीरेन्द्र राठी, समाजसेवी काशीराम लम्बोरा, बार युनियन के सदस्य एडवोकेट कुलदीप पटेल, बाबा भूतनाथ कमेटी संरक्षक नाथूलाल टीलावत व सुनील बोहरा सहित कई कस्बेवासियों का कहना है कि रात को लाइटें नहीं जलने के कारण महिलाओं को घर से बाहर जरूरी कामों से निकलने में परेशानी आती है। इस बारे में नगर पालिका प्रशासन को अवगत भी करवाया जा चुका है।

इनका कहना
इधर इस संबंध में नगर पालिका ईओ विक्की शर्मा का कहना है कि लाइट कर्मचारी को बंद पड़ी लाइटों व जिन लाइनों में फाल्ट आया हुआ है, उसको सही करवाने के लिए पूरे कस्बे की स्थिति की समीक्षा कर आदेशित किया जाएगा व कई स्थानों पर नई लाइटें लगवाने का प्रयास किया जाएगा।

Show More
Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned