scriptFake IPS CBI officer arrested | युवक IPS नहीं बन पाया, फिर भी अफसरों सा रूतबा...सर्किट हाउस में बुक करवाया रूम, पुलिस ने दबोचा | Patrika News

युवक IPS नहीं बन पाया, फिर भी अफसरों सा रूतबा...सर्किट हाउस में बुक करवाया रूम, पुलिस ने दबोचा

locationबस्सीPublished: Feb 01, 2024 05:56:06 pm

Submitted by:

vinod sharma

फर्जी सीबीआई ऑफिसर बन दोस्तों के साथ पहुंचा सर्किट हाउस

युवक IPS नहीं बन पाया, फिर भी अफसरों सा रूतबा...सर्किट हाउस में बुक करवाया रूम, पुलिस ने दबोचा
युवक IPS नहीं बन पाया, फिर भी अफसरों सा रूतबा...सर्किट हाउस में बुक करवाया रूम, पुलिस ने दबोचा
कोटपूतली बहरोड़ जिले के चार युवकों ने फर्जी सीबीआई ऑफिसर बनकर दोस्तों के साथ उदयपुर सर्किट हाउस पहुंचे और रूम बुक करवा दिया। संदेह होने पर उदयपुर के हाथीपोल थाना पुलिस ने कोटपूतली के चारों युवकों को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में सामने आया कि मुख्य आरोपी आईपीएस नहीं बन पाया, लेकिन अफसर के रुतबे में जीना चाह रहा था। रिश्तेदार और दोस्तों को रुतबा दिखाने के लिए सीबीआई ऑफिसर का फर्जी आईडी कार्ड बनवा लिया। उदयपुर के सर्किट हाउस पहुंचकर रूम भी बुक करवा लिया। हाथीपोल थानाधिकारी लीलाराम ने बताया कि फर्जी आइडी से खुद को सीबीआई ऑफिसर बताकर सर्किट हाउस में रूम बुक कराने के मामले में हाजीपुर बानसूर हरसोरा कोटपूतली निवासी सुनील सांखला, टसकोला पावटा प्रागपुरा कोटपूतली हाल वैशालीनगर जयपुर निवासी इंद्राज सैनी, पावटा प्रागपुरा कोटपूतली निवासी अमित कुमार चौहान और चिमनपुरा पणियाला कोटपूतली निवासी सत्यनारायण कनोलिया को गिरफ्तार किया है।
ऐसे हुआ खुलासा....
मुख्य आरोपी सुनील कुमार तीन जनों को साथ लेकर सर्किट हाउस पहुंचा। खुद को सीबीआई अफसर बताया और बांद्रा मुम्बई में पदस्थापित बताया। उसने पहचान पत्र पेश किया, जो सीबीआई भारत सरकार एसीपी (सीबीआई) पद का नई दिल्ली से जारी प्रतीत हो रहा था। सर्किट हाउस स्टाफ ने एक बार तो रूम बुक कर लिया, लेकिन संदेह जताते हुए पुलिस को सूचना दी। हाथीपोल थानाधिकारी ने उच्चाधिकारियों से बात की तो पता चला कि सीबीआई की ओर से आईडी कार्ड जारी नहीं किया जाता। ऐसे में टीम पहुंची और चारों को दबोच लिया।
युवक IPS नहीं बन पाया, फिर भी अफसरों सा रूतबा...सर्किट हाउस में बुक करवाया रूम, पुलिस ने दबोचासगाई ना टूट जाए, इसलिए बोला झूठ....
आरंभिक पूछताछ में मुख्य आरोपी सुनील ने बताया कि वह काफी समय से आईपीएस बनने के प्रयास में प्रतियोगी परीक्षाएं दे रहा है। उसकी सगाई भी हो गई थी, लेकिन सगाई नहीं टूटे, इसके लिए उसने यह झूठ फैलाया कि 2021 की परीक्षा में उसका चयन हो गया। इस झूठ को सच साबित करने के प्रयास में वह अपने होने वाले साले और दो दोस्तों को उदयपुर घुमाने लाया और पकड़ा गया।

ट्रेंडिंग वीडियो