ओवरलोड वाहनों पर RTO का शिकंजा,नहीं चलेेगी खान मालिकों की मनमर्जी

Processing of mining material over capacity : क्षमता से ज्यादा खनन सामग्री पर कार्रवाई करेगा परिवहन विभाग

By: vinod sharma

Published: 03 Jan 2020, 11:37 PM IST

कोटपूतली (जयपुर). क्षेत्र में अवैध खनन और ओवरलोड over capacity की समस्या से जूझ रहे खान विभाग को अब परिवहन विभाग का सहारा बचा है। Processing of mining material अवैध खनन व ओवरलोड की समस्या के निदान के लिए अब खनन विभाग ने ई-रवन्ना E Ravanna को परिवहन विभाग की वेबसाइट से जुड़ा है। खान व परिवहन विभाग Transport Department के साफ्टवेयर Software आपस में लिकं किए गए है। नए साल में बदलाव के बाद खान व ट्रक मालिकों के वाहन में क्षमता से ज्यादा खनन सामग्री भरते ही परिवहन विभाग को अपनी वेबसाइट पर ओवरलोडिंग की जानकारी मिल सकेगी। इससे परिवहन विभाग के लिए कार्रवाई करना आसान होगा। दूसरी ओर खान विभाग को वाहन का नम्बर अपडेट करते ही उसके खाली वजन व्हीकल टेयर वेट की जानकारी मिल जाएगी।

इमारती पत्थर का होता है खनन...
यह क्षेत्र लंबे समय से अवैध खनन Illegal mining की समस्या से जूझता रहा है। यहां के अलावा इससे जुड़े पाटण क्षेत्र में इमारती पत्थर का अवैध खनन होता है। इस पत्थर से तैयार रोड़ी के सैकड़ों आवेरलोड ट्रक दिल्ली व हरियाणा में भेजे जाते है। इन ट्रकों में क्षमता से कई गुना अधिक माल होता है। mineral royalty recovery इमारती पत्थर के अवैध खनन के चलते ओवरलोडिंग की समस्या भी बढ़ती रही है। ओवरलोडिंग से अब तक कई बेगुनाह लोगों की जान जा चुकी है। सड़कें क्षतिग्रस्त हो रही है। अब तक दोनों विभाग खनन व ओवरलोडिंग की समस्या का निराकरण नहीं ढूंढ पाए है। अब नए साल दोनों विभाग ने मिलकर समस्या के निराकरण के लिए ई-रवन्ना को परिवहन विभाग की वेबसाइट से जोडऩे का निर्णय किया है। वेबसाइट से जुडऩे के बाद विभाग ने ओवरलोड वाहनों पर चालान की कार्रवाई की है।

नहीं चलेेगी खान मालिकों की मनमर्जी...
नए बदलाव के तहत अब वाहन का खाली वजन परिवहन विभाग की वेबसाइट से लिया जाएगा। परिवहन विभाग में पंजीकरण के समय दर्ज वाहन का खाली वेट ही रवन्ना पर अंकित होगा। इसे लेकर खान मालिक अपनी मनमर्जी करते थे। अपनी सुविधानुसार खाली वाहन का वजन रवन्ना पर लिख देते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। खाली वजन को लेकर रवन्ना में गड़बड़ी करने पर गाड़ी मालिक के खिलाफ खनन व परिवहन विभाग कार्रवाई कर सकेगा।


ऐसे में मिलेगा ई-रवन्ना...
खनन पट्टे से धर्मकांटे तक खनिज पदार्थ पट्टाधारी या उसके अधिकृत प्रतिनिधि एसएसओ (सिंगल साइन ऑन) आईडी के जरिए विभागीय वेबसाइट से अस्थायी ई-रवन्ना (अनकन्फर्ड) जारी कर वाहन चालक के मोबाइल पर एसएमएस से भेजेगा। यहां पर खनिज पदार्थ की तुलाई के बाद रवन्ना को खान विभाग से अधिकृत तुलाई केन्द्र (धर्मकांटे) पर ई-रवन्ना में देगा। इसमें किसी भी प्रकार से कांट-छांट नहीं हो सकेगी। इसमें समय, खनिज का भार समेत अन्य जानकारियां हाथों-हाथ वेबसाइट ऑनलाइन हो जाएगी।

Show More
vinod sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned