पानी से लबालब है घर-आंगन, फिर भी प्यासे हैं ग्रामीण

पानी से लबालब है घर-आंगन, फिर भी प्यासे हैं ग्रामीण

Laxmi Narayan Dewangan | Publish: Jul, 17 2018 06:30:00 AM (IST) Nawagarh, Chhattisgarh, India

बारिश की वजह से नगर में दिखी दो तस्वीर, गलियों में भरा नाली का पानी, पेयजल के लिए तरस रहे लोग

बेमेतरा (नवागढ़) . मारो नगर में इन दिनों दो तस्वीर देखने को मिल रहा है। एक ओर पानी से गली जाम और दूसरी ओर पानी के लिए बर्तनों की कतार दिख रही है। पुरानी नाली बंद होने और नए की सफाई नहीं होने से जमा पानी ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है।
स्वच्छता सर्वेक्षण में मिला है राज्य में 25 वां स्थान
स्वच्छता सर्वेक्षण में राज्य में 25 वां स्थान पाने वाला मारो नगर पंचायत का बुरा हाल है। जिला पंचायत सदस्य ने कहा कि वास्तविकता को जनता जानती है, पीने के लिए पानी नहीं मिल रहा है। केंद्रीय टीम ने जब मारो नगर पंचायत का स्वच्छता जांचा था, तब सुलभ में हैंडवाश, टॉवेल, दरवाजे पर स्वीपर, हर गली चकाचक मिला था, क्योंकि सफाई दिखाना था। यही नहीं इसके लिए नवागढ़ नगर पंचायत के सफाई कर्मचारी भी मारो गए थे। बाद में भले ही सुलभ में ताला लगा दिया गया। सफाई के नाम पर बिल लगाया गया। स्वच्छता परिणाम के बाद विभाग को दिखाने नारे बुलंद किए गए। रैली निकालकर फोटो सेशन कराया गया पर सत्यता छिपा नहीं सके।
बारिश ने खोली पोल
तीन दिन की बारिश ने मारो की स्थिति को उजागर कर दिया। पुराने नाली बंद हो गए हैं, नए की सफाई नहीं हो रही है। निर्माण में मापदंड का पालन नहीं किया गया है। नतीजा गली तालाब में तब्दील हो गई है। गंदगी व बदबू से महामारी व बरसात जनित रोग का खतरा है, लेकिन नगर पंचायत असहाय है। स्वच्छता रैकिंग का प्रमाण पत्र नगर पंचायत की शोभा बढ़ा रहा है पर दुर्गति के प्रमाण सभी 15 वार्डों में मौजूद हैं।
क्या किया निधि का
जिला पंचायत सदस्य बिसौहाराम साहू ने कहा कि मारो नगर पंचायत की वास्तविकता जनता जानती है। पार्षद निधि से लेकर विकास निधि के नाम पर क्या किया गया है यहां पर स्वीकृत राशि का 30 प्रतिशत का भी सही उपयोग किया गया होता तो नगर में लोगों को सर्वसुविधा मिल जाती।
बराबरी कीजिम्मेदार
आप के नेता अंजोरदास धृतलहरे ने कहा कि मारो नगर पंचायत प्रदेश का बेमेतरा के बाद दूसरा नगर पंचायत है, जहां भाजपा व कांग्रेस में बराबर का सौदा है। गार्डन बनाने, सड़क बनाने के लिए मारो में जो किया गया, इसे यदि सार्वजनिक किया गया तो खेल उजागर हो जाएगा।
पेयजल संकट बरकरार
मारो नगर पंचायत उपाध्यक्ष जितेंद्र तिवारी ने कहा कि नगर में भरे बरसात में लोगों को पानी नहीं मिल रहा है। प्रशासन यहां के लोगों को शुद्ध जल नहीं दे पा रहा है। यह चिंता का विषय है। एक तरफ सड़क में पानी का भराव, दूसरी ओर पानी का संकट है। इस संबंध में नगर पंचायत मारो के सीएमओ प्रकाश शुक्ला ने कहा कि नाली का कार्य पूर्ण किया जाएगा। पेयजल संकट आज भी है। बाकी सभी मामले मेरे आने के पहले के हैं।
डेढ़ घंटे की बारिश में स्कूल में भरा पानी
बेमेतरा शहर में सोमवार को डेढ़ धंटे हुई बारिश से कई इलाकों मे जल भराव की स्थिति बन गई। जिला अस्पताल, नवीन स्कूल, कन्या स्कूल में करीब एक फीट तक पानी भर गया था। जिले में 01 जून से 16 जुलाई तक 324.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। सर्वाधिक 543.8 मिमी वर्षा बेमेतरा तहसील में तथा न्यूनतम 221.2 मिमी वर्षा नवागढ़ तहसील में दर्ज की गई है। कलक्टर महादेव कावरे ने बताया कि 01 जून से 16 जुलाई बेमेतरा तहसील में 543.8 मिमी वर्षा, बेरला तहसील में 345.0 मिमी वर्षा, साजा तहसील में 293.0 मिमी वर्षा, थानखम्हरिया तहसील में 448.0 मिमी वर्षा और नवागढ़ तहसील में 221.2 मिमी वर्षा दर्ज की गई है। इसी प्रकार 16 जुलाई की स्थिति में बेमेतरा तहसील में 26.0 मिमी वर्षा, बेरला तहसील में 65.0 मिमी वर्षा, साजा तहसील में 17.0 मिमी वर्षा, थानखम्हरिया तहसील में 22.0 मिमी वर्षा तथा नवागढ़ तहसील में 28.2 मिमी वर्षा दर्ज की गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned