नहीं माने लोग, घर से निकल रहे, एसडीएम ने उठाया डंडा

बाहर निकलने वालों पर प्रशासन सख्त

मुलताई. टोटाल लॉकडाउन घोषित होने के बाद भी कुछ लोग घर में नहीं ठहर रहे हैं और बिना किसी काम के बाहर निकल रहे हैं। बुधवार को कुछ लोगों ने दुकानें भी खोल ली थी, जिसके बाद प्रशासन ने सख्ती की और जमकर डंडा चलाया। पुलिस वालों ने बिना वजह घर से बाहर निकले लोगों पर डंडे चलाए और उन्हें घर में रूकने की हिदायत भी दी। इधर, एसडीएम सीएल चनाप ने हाथों में डंडा थामा। उन्होंने लोगों से उठक-बैठक भी लगवाई और लोगों को घर से बाहर नहीं निकलने की समझाइश दी। एसडीओपी सहित टीआई मनोज सिंग द्वारा लगातार मानिटरिंग की जा रही है और बेवजह घर से बाहर निकलने वालों को सबक सिखाया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर नगर की चारों सीमाओं को बैरिकेड्स से बंद कर दिया है और घर से बाहर निकलने वालों से कारण पूछा जा रहा है।
सीएमओ ने खुद चलाया वाहन, लोगों को घरों में रहने की समझाइश
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए 21 दिन का टोटाल लॉकडाउन कर दिया गया है। प्रशासन लगातार इसकी जानकारी लोगों को दे रहा है। इधर, सीएमओ राहुल शर्मा भी नपा के वाहन से समझाइश दे रहे हैं सभी घर में ही रहे।
सब्जी और किराना की होम डिलेवरी नहीं
सब्जियों और किराना की होम डिलेवरी की बात प्रशासन कर तो रहा है, लेकिन बुधवार को सब्जी और किराना की होम डिलेवरी नहीं हो पाई। इधर, किसानों को खेत जाने में भी परेशानी हो रही है। उनका कहना है कि खेतों में मवेशी बंधे है, उन्हें चारा-पानी करने के लिए घर से खेत जाना ही पड़ेगा। ऐसे में उन्हें खेत जाने के लिए पास जारी किए जाने चाहिए। वहीं किराना दुकान संचालकों का कहना है कि होम डिलेवरी बिना पास के संभव नहीं है, इसलिए बिना पास के होम डिलवेरी नहीं की जा सकती है।
ताप्ती घाट पर पसरा सन्नाटा, मंदिर भी रहे सुने
चैत्र के नवरात्र पर हर साल ताप्ती तट पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ रहती थी, लेकिन लॉकडाउन के चलते बुधवार को ताप्ती तट और तट पर स्थित सभी मंदिर पूरी तरह से सूने रहे। लोगों ने अपने-अपने घरों में पूजन किया। इधर, मंदिरों में केवल पुजारी द्वारा पूजन किया जा रहा है। आम लोगों के लिए मंदिर पूरी तरह से बंद हैं। हर साल चैत्र नवरात्र में मंदिरों में चहल-पहल देखते ही बनती है, लेकिन बुधवार को एकदम सूनसान था। श्रद्धालुओं का कहना है कि मुश्किल की घड़ी में सभी भगवान के ऑनलाइन दर्शन करके घरों में ही पूजा कर रहे हैं।
डॉक्टरों ने किया 20-20 घंटे काम
नगर के सरकारी अस्पताल में बुधवार को जांच करवाने आए लोगों की भीड़ लग गई। बीएमओ उदय प्रताप सिंह तोमर ने तुंरत ही लोगों को दूरी से खड़ा किया। बीएमओ के अनुसार डॉक्टरों को 20-20 घंटे काम करना पड़ रहा है। सामान्य ओपीडी बंद कर दी गई है, लेकिन इसके बाद भी कई लोग सामान्य बीमारी के उपचार के लिए आ रहे हैं। जिनका इलाज किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में लगातार टीम जा रही है और जो लोग बाहर से आए है, उन लोगों की जांच की जा रही है। बुधवार को भी स्वास्थ्य विभाग की टीम साबड़ी गई थी, जहां सौ लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया।

yashwant janoriya Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned