सपाक्स ने रैली निकालकर बंद कराई दुकानें

सपाक्स ने रैली निकालकर बंद कराई दुकानें

rakesh malviya | Publish: Sep, 07 2018 08:11:21 PM (IST) Hoshangabad, Hoshangabad, Madhya Pradesh

सपाक्स का दोपहर तक बंद पूरी तरह से सफल रहा, महिला भी हुई शामिल

बैतूल। एससी,एसटी एक्ट में संशोधन का विरोध कर रहे सपाक्स कार्यकर्ताओं ने गुरुवार दोपहर में ज्ञापन देने के बाद बस स्टैंड पर जाम कर दिया। कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी कर लगभग आधा घंटे तक जाम लगाए रखा। मौके पर पहुंची पुलिस ने जाम खुलवाया। इस दौरान बस स्टैंड पर वाहनों की लाइन लग गई थी। जाम की वजह से लोगों को परेशान होना पड़ा। इसके पूर्व सपाक्स का दोपहर तक बंद पूरी तरह से सफल रहा। बंद के दौरान व्यवस्था बनाने शहर के चौक-चौराहों पर पुलिस बल तैनात किया गया था।

सपाक्स कार्यकर्ताओं ने बंद कराई दुकानें
एससी,एसटी एक्ट में संशोधन के विरोध में सपाक्स कार्यकर्ताओं ने दोपहर तक बंद का आव्हान किया था। सुबह से ही शहर में मार्केट पूरी तरह बंद रहा। एक्का-दुक्का दुकानें खुली हुई थी,जिसे कार्यकर्ताओं ने बंद कराया। कार्यकर्ता मोटरसाइकिल से शहर में प्रदर्शन करने निकले। एक्ट में संशोधन के विरोध में नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। दोपहर तक दुकानें बंद होने से लोगों को परेशान होना पड़ा। दोपहर में एक बजे कलेक्टर को ज्ञापन देने पहुंचे। कलेक्टर शशांक मिश्र को संगठन के संभागीय अध्यक्ष राजीव खंडेलवाल और जिलाध्यक्ष दिनेश महस्की के नेतृत्व में ज्ञापन सौंपा गया। प्रदर्शन में महिलाएं भी शामिल रही।ज्ञापन सौंपने के बाद कार्यकर्ताओं ने कोठीबाजार बस स्टैंड पर जाम कर प्रदर्शन किया।

एक्ट में संशोधन वापस लिया जाए
सपाक्स कार्यकर्ताओं ने कलेक्टर शशांक मिश्र को राष्ट्रपति के नाम सौंपे ज्ञापन में बताया कि सर्वाेच्च न्यायालय द्वारा दिए गए फैसले के विरोध में पिछले दिनों भारत सरकार ने एससी,एसटी एक्ट में संशोधन अधिनियम 2018 लागू किया है। संशोधन सामान्य, पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यक वर्ग के लिए अभिशाप साबित होगा। वर्तमान में इस अधिानियम का बार-बार दुरुपयोग होने की आशंका है। एक्ट में संशोधन न्याय के सिद्धांतों के विपरित है और मौलिक अधिकारों का हनन है। सपाक्स ने एससी,एसटी एक्ट में किए गए संशोधन अधिनियम 2018 को वापस लेने की मांग की है।

Ad Block is Banned