पढ़े, छिंदवाड़ा में मृत कोरोना का मरीज जिस बस में सवार था उसमें बैतूल के भी दस लोग थे, पुलिस अब इनकी तलाश कर रही

पड़ोसी जिले छिंदवाड़ा में कोरोना पॉजीटिव मरीज की मौत के बाद बैतूल जिले में भी हड़कंप मच गया है, क्योंकि छिंदवाड़ा के जिस शख्स की मौत हुई है वह १७ मार्च को इंदौर से एक निजी बस में ट्रेवल कर छिंदवाड़ा लौटा था और इस बस में बैतूल के भी दस से बाहर लोग सवार थे।

By: Devendra Karande

Published: 05 Apr 2020, 05:03 AM IST

बैतूल। पड़ोसी जिले छिंदवाड़ा में कोरोना पॉजीटिव मरीज की मौत के बाद बैतूल जिले में भी हड़कंप मच गया है, क्योंकि छिंदवाड़ा के जिस शख्स की मौत हुई है वह १७ मार्च को इंदौर से एक निजी बस में ट्रेवल कर छिंदवाड़ा लौटा था और इस बस में बैतूल के भी दस से बाहर लोग सवार थे। कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने की आशंका को देखते हुए अब स्वास्थ्य और पुलिस विभाग ने १७ मार्च को उस बस में ट्रेवल करने वाले यात्रियों की तलाश शुरू कर दी हैं। बस मालिक से उस दिन यात्रा करने वाले सभी लोगों के नाम, पते भी लिए गए हैं। इधर बैतूल जिले में पिछले २४ घंटों के दौरान एक दर्जन से अधिक कोरोना के संदिग्ध मरीज सामने आए हैं। इन मरीजों को इलाज के लिए जिला अस्पताल लगाया गया है। सभी मरीजों के सेम्पल जांच के लिए भोपाल भेजे गए हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा अब तक १८ मरीजों के सेम्पल लिए जा चुके हैं जिनमें से ३ की रिपोर्ट निगेटिव आई है। हालांकि अभी तक कोरोना का एक भी पॉजीटिव केस जिले में सामने नहीं आया है लेकिन जिस तरह से संदिग्ध मरीजों की संख्या में एक ही दिन में १३ का इजाफा हुआ है उससे स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया है। वहीं बड़ी संख्या में लोग रात के अंधेरे में चोरी छुपे बार्डर क्रास कर बैतूल जिले में आ रहे हैं। जिससे भी संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ सकता है।
प्रशासन ने शुरू की बस यात्रियों की तलाश
पड़ोसी जिले छिंदवाड़ा में कोरोना पॉजीटिव की मौत के बाद से हड़कंप की स्थिति है। जिला प्रशासन के लिए चिंता का एक बड़ा कारण यह भी है कि छिंदवाड़ा में जिस कोरोना पॉजीटिव की मौत हुई है वह बस में ट्रैवल के दौरान अन्य यात्रियों के संपर्क में भी आया था। इस बस में बैतूल जिले के दस से बाहर यात्री भी सवार थे। इसके अलावा कम दूरी की यात्रा करने वाले भी कई लोग बीच में उतरें होंगे जिन्हें अब प्रशासन ढूंढ रहा है। टिकट लेकर सफर करने वाले लोगों के नाम, पता तो चल गए हैं लेकिन जो बिना टिकट कम दूरी की यात्रा करके बीच में उतर गए उनका पता लगाना मुश्किल होगा। बस में सफर करने वाले जिले के सभी यात्रियों की स्वास्थ्य एवं पुलिस विभाग द्वारा पड़ताल शुरू कर दी गई है। चिचोली क्षेत्र के दो यात्रियों की पहचान होने पर स्वास्थ्य अमला उनके घर पहुंचा था। घर के सभी सदस्यों की जांच की गई है।
एक दिन में भेजे १३ मरीजों के सेम्पल
कोरोना के संदिग्ध मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ोत्तरी हो रही है। शुक्रवार को जहां संदिग्ध मरीजों की कुल संख्या ५ थी। वहीं २४ घंटे में यह बढ़कर १८ पर पहुंच गई है। यानि २४ घंटों के अंदर १३ नए मरीज सामने आए हैं। इन सभी मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण करने के उपरांत कोरोना जांच के लिए सेम्पल भोपाल प्रयोगशाला में भेजा गया है। ३ अप्रैल के पूर्व जिन पांच मरीजों के कोरोना सेम्पल जांच के लिए भोपाल भेजे गए थे। उनमें से तीन मरीजों की जांच रिपोर्ट आ चुकी हैं। सभी की रिपोर्ट निगेटिव बताई जाती है। अब १५ मरीजों की जांच रिपोर्ट आना बाकी है।
आयसोलेशन सेंटर बनाने के लिए होटल अधिग्रहित
कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी राकेश जैन ने कोरोना वायरस के संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करने तथा निदानात्मक उपायों को सुनिश्चित करने के दृष्टिगत आपातकालीन एवं अत्यावश्यक परिस्थिति में आयसोलेशन सेंटर बनाने के लिए होटल एल्बी लॉन बैतूलबाजार को उपयोग करने के लिए अधिग्रहित करने के आदेश दिए हैं। इधर स्वास्थ्य दल द्वारा पुलिस कन्ट्रोल रूम एवं चेकपोस्ट पर तैनात पुलिसकर्मियों द्वारा प्राप्त सूचना के आधार पर यात्रियों की स्वास्थ्य जांच की जा रही है, जिसमें सभी सामान्य पाए गए हैं। द्वारा शहरी क्षेत्र बैतूल के विभिन्न स्थानों पर 170 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया, साथ ही इन नागरिकों को कोरोना वायरस से बचाव संबंधित जानकारियां एवं परामर्श भी प्रदाय किया गया।

Devendra Karande Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned