एक ही दुकान में पंद्रह दिन के अंदर दूसरी चोरी, खौफ में दुकानदार

एक ही दुकान में पंद्रह दिन के अंदर दूसरी चोरी, खौफ में दुकानदार

Sunil Yadav | Publish: Aug, 12 2018 10:28:24 PM (IST) Bhadohi, Uttar Pradesh, India

पूर्व में हुई चोरी का अब तक खुलासा नहीं

भदोही. जिले में चोरी की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही। शनिवार की रात औराई कोतवाली के महराजगंज इलाके में चोरों ने बिल्डिंग मैटेरियल की दो दुकानों से नगदी समेत दो लाख से अधिक का माल पार कर दिया। बड़ी बात यह है कि दुकान में पन्द्रह दिन पूर्व भी चोरी की घटना हुई थी। जिसके बारे में पीड़ित ने पुलिस से शिकायत की थी, लेकिन इसके बाद दोबारा हुई चोरी ने पुलिस व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं। चोरी से आस पास के लोग भी सहमे हुए हैं।


बताया जा रहा है कि महराजगंज जीटी रोड इटवा स्थित यूनियन बैंक के बगल में शिवम बिल्डिंग और अमर बिल्डिंग मैटेरियल की दुकान स्थित है। सुबह आस पास के लोगों ने जब दुकान का शटर टूटा हुआ देखा तो दुकान मालिक को इसकी खबर दी। दोनों दुकानों के शटर टूटे हुए थे और काउंटर सहित अन्य सामान इधर उधर बिखरे पड़े थे। शिवम बिल्डिंग मैटेरियल के दुकानदार गोविंद सिंह ने बताया कि उनके दुकान से 15 हजार नगद समेत दुकान में रखे लोहे का इंगल, पाइप और चादर की चोरी की गई है। साथ ही बगल के अमर बिल्डिंग के दुकानदार के मुताबिक दस हजार नगद समेत नल का समान व अन्य सामग्री चोरी हुई है। कुल मिलाकर दोनों चोरियों में 25 हजार नगद सहित दो लाख से अधिक की चोरी का अनुमान लगाया जा रहा है। चोरी की सूचना पर मौके पर पहुंचे सीओ राम करण और थाना प्रभारी सुनील दुबे ने मामले की जांच पड़ताल की। दुकानदारों का कहना है कि पन्द्रह दिन पहले भी दुकान में चोरी हुई थी इसके बाद दोबारा चोरी होने से सभी डरे हुए हैं। जबकि पूर्व में भी हुई चोरी की शिकायत पुलिस से की गयी थी। पुलिस उसका भी खुलासा नहीं कर सकी।

यह भी पढ़ें- फायरिंग और बमबाजी से दहल उठा इलाहाबाद विश्वविद्यालय के आस पास का इलाका

By- शिवनंदन साहू

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned