हर गांव में बनेंगे सामुदायिक शौचालय

1910 शौचालय निर्माण पर होंगे 57.30 करोड़ का व्यय

By: Suresh Jain

Published: 26 Feb 2021, 09:38 AM IST

भीलवाड़ा .
व्यक्तिगत शौचालय बनाने के बाद अब हर गांव में सामुदायिक शौचालय भी बनाए जाएंगे। केन्द्र सरकार ने इस संबंध में फैसला लिया है। इसके निर्देश गत दिनों राज्य सरकार ने स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण फेज2 के तहत दिए है। योजना के तहत भीलवाड़ा जिले के लगभग 1910 गांवों में 1910 शौचालय बनाए जाएंगे। इन सामुदायिक शौचालयों के निर्माण पर 57.30 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
सरकार ने स्वच्छ भारत मिशन और 14वें वित्त के बजट से सामुदायिक शौचालय बनाने का फैसला किया है। सरकार का मानना है कि घर-घर शौचालय बनाने का काम लगभग पूरा हो चुका है। लोगों में शौचालय का प्रयोग करने और शौचालय बनाने की जागरुकता आई है लेकिन मिशन के तहत स्वच्छता जागरुकता को बढ़ावा देने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में सामुदायिक शौचालय बनाए जाएंगे तो ग्रामीण इनका प्रयोग कर और जागरुक बनेंगे। सरकार ने इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर दिए है।
14वें वित्त के बजट से बनाए जाएंगे शौचालय
सरकार ने प्रत्येक ग्राम में एक-एक सामुदायिक शौचालय बनाने के फैसले को हरी झंडी दी है। एक शौचालय की लागत 3 लाख रुपए आएगी। इसमें 2.10 लाख परियोजना मद से तथा 90 हजार रुपए अन्य मद से मिलेंगे। जिले की 14 पंचायत समितियों के 396 ग्राम पंचायतों में 1910 शौचालय बनाने के लिए 57.30 करोड़ रुपए का बजट खर्च होगा।
चार सीट वाले शौचालय का होगा निर्माण
प्रत्येक ग्राम में तीन लाख की लागत से चार सीट वाले शौचालयों का निर्माण कराया जाएगा। जिसमें दो महिला व दो पुरुष शौचालय होंगे। गाव में तैनात सफाई कर्मी व एक अन्य कर्मचारी को शौचालयों की नियमित सफाई व देखभाल की जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। स्वजल परियोजना के माध्यम से शौचालयों का निर्माण कराया जाएगा। खुले में शौचमुक्त अभियान के तहत गावों में शौचालय बनवाए गए हैं, लेकिन अभी तक काफी संख्या में ग्रामीण योजना के लाभ से वंचित हैं। ग्रामीण इलाके में आज भी लोग खुले में शौच करने को विवश हैं। तीन लाख की लागत से पुरुष व महिलाओं की सुविधा के अनुकूल शौचालयों का निर्माण कराया जाएगा। शौचालय निर्माण को गावों के बाहर सार्वजनिक भूमि चिह्नित की जाएगी।
500 लीटर के पानी का टैंक होगा
स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत ग्राम को खुले में शौच से मुक्त बनाने के लिए हर गाव में सामुदायिक शौचालयों का निर्माण किया जाना है। शौचालय का निर्माण केंद्र सरकार की ओर से 2.10 लाख स्वच्छ भारत मिशन के तहत तथा 90 हजार 15 वें वित्त से दी जाएगी। शौचालय में पानी की भी पूरी सुविधा होगी। इसमें 500 लीटर का पानी का टैंक रखा जाएगा। शौचालय पुरुष और महिला के लिए अलग-अलग होंगे। भले ही महिला शौचालय की जरूरत न हों, फिर भी शौचालय बनाया जाना जरूरी होगा।
ऐसे होगा स्थल का चयन
हर गाव में ऐसे स्थान को चिन्हित किया जाए कि जहा व्यक्तिगत शौचालय के लिए जगह का अभाव हो। इसके अलावा चयनित स्थल लाभ प्राप्त करने वाली आबादी से समुचित दूरी पर हो और आने जाने में सुगमता हो। इसके अलावा समुदाय से चर्चा कर सहमति ले ली जाए। निर्माण वाले स्थल पर जल की व्यवस्था भी करना सुनिश्चित कर ली जाए।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned