script हजारों औद्योगिक उपभोक्ताओं को मिलेगी निर्बाध बिजली की सौगात | Thousands of industrial consumers will get the gift of uninterrupted e | Patrika News

हजारों औद्योगिक उपभोक्ताओं को मिलेगी निर्बाध बिजली की सौगात

locationभिवाड़ीPublished: Dec 12, 2023 06:35:27 pm

Submitted by:

Dharmendra dixit


क्षेत्र में स्थापित होंगे छह नए 33 केवी सब स्टेशन

हजारों औद्योगिक उपभोक्ताओं को मिलेगी निर्बाध बिजली की सौगात
हजारों औद्योगिक उपभोक्ताओं को मिलेगी निर्बाध बिजली की सौगात

भिवाड़ी. औद्योगिक क्षेत्र के हजारों औद्योगिक उपभोक्ताओं को ट्रिपिंग और फॉल्ट रहित गुणवत्ता वाली बिजली की आपूर्ति हो सकेगी। विद्युत निगम द्वारा क्षेत्र में छह नए
33 केवी सब स्टेशन का निर्माण कराया जाएगा। जमीन चिन्हित कर आवंटित हो चुकी है। सब स्टेशन के निर्माण पर करीब 18 करोड़ रुपए की लागत आएगी। निर्माण कार्य के प्रस्ताव मुख्यालय भेज दिए गए हैं। वहां से स्वीकृति मिलते ही निर्माण कार्य शुरू हो जाएंगे।
सब स्टेशन का निर्माण घटाल, हरचंदपुर, रिलेक्सो चौक, सारेखुर्द, सलारपुर में दो स्थान पर होगा। सभी जगह रीको ने जमीन आवंटित की है। सारेखुर्द में पहले से ही जमीन आवंटित थी। सलारपुर में दोनों जीएसएस के लिए पांच हजार वर्गमीटर, घटाल, हरचंदपुर, रिलेक्सो चौक में प्रति जीएसएस के लिए 1500 वर्गमीटर, सारेखुर्द में तीन हजार वर्गमीटर जमीन आवंटित हुई है। निर्माण कार्य के लिए प्रस्ताव बनाकर जयपुर मुख्यालय भेज दिए गए हैं। जल्द ही अनुमति मिलने की संभावना है। जिसके बाद निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा।
सब स्टेशन का निर्माण होने के बाद 33 केवी जीएसएस की संख्या 22 हो जाएगी। एक सब स्टेशन के निर्माण में तीन करोड़ की लागत आएगी। निगम से मिली जानकारी के अनुसार सभी स्थलों पर जमीन आवंटित हो गई है। जमीन चिन्हित चुनाव से पहले हो चुकी थी, लेकिन बीच में आचार संहिता की वजह से आवंटन संबंधी प्रक्रिया धीमी पड़ गई। इसकी वजह से आवंटन में देरी हुई।
----
ट्रिपिंग और लाइन लॉस होंगे कम
नए सब स्टेशन का निर्माण होने से फीडर की लंबाई कम होगी। जिससे ट्रिपिंग की समस्या कम होगी। लाइन लॉस में कमी आएगी। जिस जगह बिजली आपूर्ति बंद करनी है, सिर्फ वही क्षेत्र प्रभावित होगा। औद्योगिक इकाइयों का उत्पादन बढ़ेगा, निर्बाध बिजली मिलेगी और निगम का राजस्व बढ़ेगा।
----
साढ़े चार साल बाद होगा नया स्टेशन स्थापित
सब स्टेशन का निर्माण आरडीएसएस स्कीम के तहत होगा। इसमें केंद्र और राज्य सरकार का अंशदान रहता है। भिवाड़ी में 33 केवी का अंतिम जीएसएस मार्च 2019 में यूआईटी सेक्टर नौ में तैयार हुआ था। तब से कोई नया नहीं बना। जबकि इस अवधि में भिवाड़ी उपखंड में घरेलू, अघरेलू और औद्योगिक इकाइयों का लोड करीब 25 प्रतिशत बढ़ गया है।
----
जीएसएस निर्माण के लिए जमीन आवंटन हुआ है। इससे बिजली आपूर्ति व्यवस्था में सुधार आएगा।
सुधीर पांडेय, अधीक्षण अभियंता, वितरण निगम

ट्रेंडिंग वीडियो