scriptAyodhya ram mandir: All trains going to UP are full, there is no space to step foot | 20 जनवरी से अयोध्या में एंट्री बंद , UP जाने वाली सभी ट्रेनें फुल, पैर रखने की जगह नहीं | Patrika News

20 जनवरी से अयोध्या में एंट्री बंद , UP जाने वाली सभी ट्रेनें फुल, पैर रखने की जगह नहीं

locationभोपालPublished: Jan 15, 2024 11:06:58 am

Submitted by:

Ashtha Awasthi

अयोध्या जाने को बेताब यात्री, गाड़ियां रद्द होने से कोच में पैर रखने की जगह तक नहीं

capture.png
Ayodhya ram mandir

भोपाल। 22 जनवरी को अयोध्या में होने वाले राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल होने के लिए शहर से श्रद्धालुओं का जन सैलाब लखनऊ-अयोध्या और अयोध्या कैंट रेलवे स्टेशन की तरफ कूच कर रहा है। उत्तर प्रदेश जाने वाली भोपाल और रानी कमलापति से गुजरने वाली लगभग हर रेलगाड़ी के कोच में अब पैर रखने की जगह नहीं है। इन ट्रेनों में लगातार वेटिंग बढ़ रही है। हाल ही में अलग-अलग रेल मंडल में चल रहे सुधार कार्य के चलते कई यात्री ट्रेनों को निरस्त कर दिया गया है जिससे यात्रियों की भीड़ अनियंत्रित हो रही है।

50 फीसदी से ज्यादा वाहनों की एडवांस बुकिंग

शहर में रजिस्टर्ड 3000 प्राइवेट टैक्सी में से ज्यादातर कैब की यूपी जाने के लिए बुक करवाई जा चुकी हैं। लगभग 50 फीसदी से ज्यादा वाहनों की बुकिंग एडवांस हो चुकी है। शेष गाड़ियां अलग-अलग शहरों के लिए बुक हुई हैं। प्राइवेट टैक्सी ओनर्स एसोसिएशन के मुताबिक 12 से 16 रुपए किलोमीटर प्रति ट्रिप के हिसाब से किराया एडवांस के तौर पर लिया जा रहा है। अयोध्या जिला प्रशासन द्वारा 20 जनवरी के बाद बाहरी वाहनों एवं नागरिकों का प्रवेश प्रतिबंधित किया गया है जिसके चलते विशेष दस्तावेज बनवाने की प्रक्रिया स्थानीय प्रशासन के माध्यम से करवाई जा रही है।

20 जनवरी से बाहरी लोगों को नहीं मिलेगा प्रवेश

रामनगरी में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह की तैयारियां धूमधाम से जारी है। इस दौरान सुरक्षा के खास इंतजाम रहेंगे। अयोध्या में 20 जनवरी से बाहरी लोगों को प्रवेश नहीं मिलेगा। स्थानीय लोगों को भी पहचान पत्र दिखाना होगा। अयोध्या शहर में 20 से 22 जनवरी तक हाई सिक्योरिटी जोन में रहेगा। शहर की सीमाएं सील रहेंगी।

शंकराचार्यों ने दिया आशीर्वाद: विहिप ने शंकराचार्यों के विरोध की बात कहने वालों को जवाब देने शृंगेरी व शारदा पीठ के शंकराचार्य के जारी वक्तव्य सार्वजनिक किए हैं। विहिप के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार बोले, शृंगेरी व शारदा पीठ के वक्तव्य में कहा, शंकराचार्य आशीर्वाद देते हैं कि अतिपावन प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव में भाग लेकर सभी आस्तिक श्रीराम के कृपा पात्र बनकर कृतार्थ होवें। शारदापीठ ने वक्तव्य में कहा, यह प्रसन्नता का अवसर है। हम चाहते हैं कि समारोह के कार्यक्रम वेद-शास्त्रानुसार, धर्म शास्त्रों की मर्यादा का पालन कर विधिवत संपन्न हों।

ट्रेंडिंग वीडियो