कांग्रेस में शामिल हुईं BJP नेता पारुल साहू, मंत्री गोविंद सिंह के खिलाफ लड़ सकती हैं चुनाव

कमलनाथ ने कहा पारुल साहू के पिता हमारे पुराने सहयोगी हैं।

By: Pawan Tiwari

Published: 18 Sep 2020, 11:42 AM IST

भोपाल. उपचुनाव की तैयारियों के बीच भाजपा नेता पारुल साहू शुक्रवार को कांग्रेस में शामिल हो गईं। पूर्व सीएम और मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की मौजूदगी ने उन्होंने कांग्रेस की सदस्यता ली। इस दौरान कमलनाथ ने कहा- पारुल साहू की घर वापसी है, इनका पूरा परिवार कांग्रेस में था आज वो भी कांग्रेस में शामिल हो गईं है। कमलनाथ ने कहा पारुल साहू के पिता हमारे पुराने सहयोगी हैं।


शिवराज पर हमला
कमलनाथ ने कहा- शिवराज जेब मे नारियल लेकर चलते हैं जहां मौका मिलेगा फोड़ देंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा ने प्रदेश को कलंकित किया है, मुझे दिल्ली जाने में शर्म आती है वहां लोग कहते हैं उसी प्रदेश से हो जहां सब बिकने तैयार हैं। हमारे प्रजातंत्र के साथ जो खिलवाड़ हुआ है उसका फैसला चुनाव में होगा। नौजवान और किसान पीड़ित हैं, जो पैसा शिवराज बांट रहे वो प्रीमियम हमने दिया।

इस कारण नाराज थीं पारुल साहू
ज्योतिरादित्य सिंधिया की भाजपा में एंट्री के बाद पार्टी के कई सीनियर नेता नाराज हैं और उपचुनाव में सिंधिया समर्थक नेताओं टिकट दावेदारी को देखते हुए कई नेता अपने राजनीतिक भविष्य को लेकर दुविधा में हैं। ऐसे में पूर्व विधायक पारुल साहू भी नाराज थीं।

2018 में नहीं मिला था टिकट
2013 में विधायक बनी पारुल साहू को 2018 में टिकट नहीं दिया गया था। पारुल को लोकसभा चुनाव लड़ना चाहती थीं इसलिए समझौता हुआ था लेकिन उन्हें लोकसभा का भी टिकट नहीं दिया गया था। वहीं, दूसरी तरफ ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा में शामिल होने के बाद उनके करीबी गोविंद सिंह राजपूत भी अब भाजपा में हैं।

गोविंद सिंह का हराया था चुनाव
2013 के विधानसभा चुनाव में पारुल साहू भाजपा की उम्मीदवार थीं और गोविंद सिंह राजपूत कांग्रेस के टिकट से मैदान पर थे। इस चुनाव में पारुल साहू ने गोविंद सिंह राजपूत को चुनाव में हराया था। हालांकि हार का अंतर बहुत कम था। 2013 में पारुल साहू को 59,513 वोट मिले थे जबकि गोविंद सिंह राजपूत को 59,372 वोट मिले थे। लेकिन अब होने वाले उपचुनाव में गोविंद सिंह राजपूत भाजपा में हैं और माना जा रहा है कि सुरखी विधानसभा सीट से वहीं उम्मीदवार हो सकते हैं। वहीं, पारुल साहू के कांग्रेस में शामिल होने के बाद माना जा रहा है कि उन्हें सुरखी से टिकट दिया जाएगा।

Pawan Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned