'फरिश्ता' बनकर आया किसान, ट्रेक्टर से पुल पार कर मासूम को पहुंचाया अस्पताल

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में एक किसान ने ऐसा काम किया कि अगर उसे फरिश्ता कहा जाए तो कम नहीं होगा..

By: Shailendra Sharma

Published: 29 Aug 2020, 11:18 PM IST

भोपाल. पुल के ऊपर से बह रही उफान मारती नदी और एंबुलेंस में ऑक्सीजन लगाकर जिंदगी की जंग लड़ रहा मासूम...जी हां कुछ इसी तरह के हालात मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के पास ईंटखेंड़ी में बने हुए थे। मासूम ऑक्सीजन लगाए हुए मौत से जिंदगी की जंग लड़ा रहा था, उसके माता-पिता व एंबुलेंस ईश्वर से प्रार्थना कर रहे थे कि जल्द से जल्द नदी का पानी पुल से नीचे उतर जाए जिससे मासूम को अस्पताल पहुंचाया जा सके और इसी बीच एक किसान फरिश्ता बनकर आया और मासूम को अस्पताल पहुंचाने के लिए वो काम किया जिसे जानकर आप भी इस किसान की तारीफ कर उठेंगे।

 

farishta_2.jpg

फरिश्ता बनकर आया किसान
ईंटखेड़ी पर हलाली नदी के उफान पर होने के कारण नदी का पानी पुल के ऊपर से बह रहा था। बच्चे को ले जा रही एंबुलेंस भी फंसी हुई थी और जैसे ही गांव के किसान पदम सिंह मीणा को एंबुलेंस के पुल पर फंसे होने की सूचना मिली तो मुसीबत में पड़े मासूम बच्चे के माता-पिता के पास पहुंचे। पुल से पानी उतरने का थोड़ी देर इंतजार किया लेकिन लगातार हो रही बारिश के कारण जब पानी उतरने के आसार नजर नहीं आए तो किसान पदम सिंह ने ट्रेक्टर पर ही ऑक्सीजन लगे मासूम और उसके माता-पिता को बैठाकर पुल के ऊपर से बह रही नदी को पार करा दिया। किसान पदम सिंह नदी के बैरसिया वाले छोर पर थे और ट्रेक्टर पर बैठाकर मासूम बच्चे और उसके माता पिता को दूसरे छोर तक सुरक्षित लेकर आए।

 

farishta_3.jpg

पुल पार खड़ी एंबुलेंस से मासूम को पहुंचाया अस्पताल
पुल पार कराने के बाद पदम सिंह ने पुल के दूसरे छोर पर पहले से ही खड़ी एंबुलेंस में बच्चे और उसके माता-पिता को बैठाया और अस्पताल के लिए रवाना किया। बता दें कि नदी के उफान पर होने के कारण एंबुलेंस चालक ने पहले ही दूसरी एंबुलेंस को पुल के दूसरे छोर पर बुला लिया था जिससे कि बच्चे को वक्त पर अस्पताल पहुंचाया जा सके। एंबुलेंस चालक ने बताया कि वो मासूम बच्चे को गुना के बामोरी से लेकर भोपाल इलाज के लिए ला रहे थे।

Show More
Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned